Whatsapp button

 

राजधानी में इस बार के लॉकडाउन में भले ही सबकुछ बंद है, लेकिन लोगों का आना-जाना लगातार जारी है। सड़कों पर कुछ ही जगहों पर पुलिस की जांच होने की वजह से लोग बेखौफ होकर घूम रहे हैं। पुलिस जांच में जिन्हें रोका जा रहा है उनसे भी मामूली पूछताछ के बाद जाने दिया जा रहा है।

सभी संस्थान, दफ्तर और कारोबार बंद होने के बावजूद लोग बाहर निकल रहे हैं। इनमें से ज्यादातर वे लोग हैं जो एक जगह से दूसरी जगहों पर जा रहे हैं। सख्त लॉकडाउन का आदेश जारी होने के बावजूद मोहल्लों में लोगों की भीड़ उमड़ रही है। गली-मोहल्लों की सड़कों पर लोग झुंड बनाकर बैठ रहे हैं।

पुलिस की गाड़ी आते ही लोग अपने घरों में चले जाते हैं। जैसे ही गाड़ी गुजरती है वापस मोहल्लों में दिखाई देते हैं। मोहल्लों में किराना की दुकानें भी चोरी-छिपे खुल रही हैं। इन किराना दुकानों में बढ़ी हुई कीमत में चीजें बेची जा रही हैं। खाने-पीने की चीजों के अलावा, पान, गुटखा समेत सभी तरह की चीजें प्रिंट रेट से डेढ़ से दोगुनी कीमत में बिक रही हैं।

ऑर्डर ज्यादा होने पर होम डिलीवरी भी

सख्त लॉकडाउन में शहर में खाने-पीने के किसी सामान का ऑर्डर ज्यादा होने पर दुकानदार होम डिलीवरी की सुविधा दे रहे हैं। होटल वालों के साथ ही घरों से टिफिन सुविधा देने वाले दुकानदार सामान की डिलीवरी कर रहे हैं।

बंद दुकानों के अंदर या घरों में इस ऑर्डर को तैयार किया जा रहा है और फिर ग्राहक के तय समय में उसे संबंधित जगहों पर भी छोड़ा जा रहा है। इसके लिए अतिरिक्त चार्ज भी लिया जा रहा है।

जोन दफ्तरों से बंट गए सैकड़ों पास

लॉकडाउन के दौरान जरूरी कामों के लिए निगम कर्मचारियों के साथ ही दूसरे लोगों के नाम पर भी सैकड़ों पास जारी कर दिए गए हैं। शहर में घूमने वाले कुछ लोग इस पास को दिखाकर चेकिंग वाले स्थानों से भी आसानी से गुजर जा रहे हैं। इस पास को दिखाने पर पेट्रोल पंपों से पेट्रोल भी मिल रहा है।

मनमाने दामों पर सब्जियों की होम डिलीवरी

इस बार लॉकडाउन में सब्जी वालों को भी छूट से बाहर रखने से अब वे चोरी-चुपके होम डिलीवरी कर रहे हैं। इस दौरान वे लोगों से सब्जियों के मनमाने दाम वसूल रहे हैं। लगभग सभी सब्जियों पर प्रति किलो 10-20 रुपए ज्यादा ले रहे हैं। कुछ दुकानदार लॉकडाउन की आड़ में मनमाने दामों पर सामान बेचकर अधिक से अधिक मुनाफा कमाने में लगे हुए हैं।