AIIMS हॉस्टल में चिकित्सा छात्र ने दी जान; खुद को कमरे में कर लिया था बंद, पढ़ाई को लेकर डिप्रेसन में चल रहा था

600

रायपुर, राजधानी रायपुर के AIIMS(अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) में एक बार फिर खुदकुशी की घटना हुई है। एक स्टूडेंट ने अपने कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। शनिवार की दोपहर उसकी लाश बाहर निकाली गई। अब स्टूडेंट का पोस्टमॉर्टम किया जा रहा है। पुलिस ने हॉस्टल के अन्य छात्रों से बातचीत की है, कुछ अहम जानकारियां सामने आई हैं। स्टूडेंट के घर वालों को भी जानकारी दी गई है।

एम्स प्रबंधन से मिली जानकारी के मुताबिक, स्टूडेंट ने बाकि साथियों से मुलाकात की, वो क्लास अटेंड करने भी गया था। उसने क्लास अटेंड की, इसके बाद हॉस्टल में अपने कमरे में चला गया। उसने कमरा अंदर से लॉक कर लिया। कुछ देर बाद लंच के लिए जब दोस्त बुलाने आए तो दरवाजा नहीं खोला। स्टूडेंट्स ने सीनियर्स को बताया। इसके बाद डुप्लीकेट चाबी से कमरा खोला गया। अंदर चादर से बने फंदे पर स्टूडेंट लटका हुआ था।

डिप्रेस था स्टूडेंट
पुलिस ने बताया कि खुदकुशी करने वाले छात्र का नाम शिवम पवार था। वो MBBS सेकंड ईयर का छात्र था। 20 साल का शिवम एमपी के दमोह का रहने वाला था। पिछले साल ही रायुपर एम्स में आकर पढ़ाई शुरू की थी। फंदा बांधने के लिए इसने सीलिंग फैन का इस्तेमाल किया। पुलिस को उसके कुछ दोस्तों ने बताया है कि पिछले कुछ दिनों से शिवम पढ़ाई को लेकर डिप्रेस चल रहा था। एक दो महीने से उसकी परेशानी बढ़ गई थी।

एम्स प्रबंधन करेगा जांच
एम्स ने भी एक कमेटी बनाई है, जो इस मामले की आंतरिक तौर पर जांच करेगी। इससे पहले पिछले साल भी यहां पढ़ने वाली साक्षी नाम की छात्रा ने सुसाइड किया था। बिलासपुर की रहने वाली इस स्टूडेंट्स के मामले में एम्स ने जांच में एम्स के डॉक्टर की गलती पाई। उनपर कार्रवाई भी हुई। मामला महिला आयोग भी पहुंचा है।