खुद के लिए चिता सजाकर – जलती चिता में कूद गई महिला, : जलकर हुई मौत…

668

बिलासपुर, छ्त्तीसगढ के बिलासपुर जिले के कोटा क्षेत्र के नेवरा में रहने वाली महिला ने घर पीछे पानी की टंकी में लकड़ी, कंडे और अन्य सामान रखकर खुद के लिए चिता सजा ली। महिला इसमें आग लगाकर कूद गई। इससे जलकर महिला की मौत हो गई। शुक्रवार की सुबह स्वजन को इसकी जानकारी हुई। सूचना पर पुलिस ने शव कब्जे में लेकर सिम्स भेज दिया। यहां शव का पोस्टमार्टम कर स्वजन को सौंप दिया गया है।

कोटा क्षेत्र के नेवरा में रहने वाली संतोषी साहू गृहिणी थीं। चार महीने से उन्हें मानसिक समस्या थी। उन्हें सपने में तरह तरह की आवाजें सुनाई देती है। उनका कहना था कि कोई सपने में आत्महत्या के लिए उकसाता है। इसकी जानकारी होने पर स्वजन अलग-अलग जगहों पर झाड़-फूंक करा रहे थे। गुस्र्वार की रात महिला घर से निकलकर बाड़ी में गई। वहां जाकर पानी की खाली टंकी में लकड़ी, कंडे डालकर आग लगा दी। आग में कूदकर महिला ने आत्महत्या कर ली।

सुबह स्वजन मवेशियों को बाहर निकालने के लिए जागे तो उन्होंने बाड़ी में धुआं देखा। पीछे का दरवाजा बंद था। किसी तरह दरवाजा खोलकर वहां पहुंचे तो संतोषी की मौत हो चुकी थी। शव भी पूरी तरह से जल चुका था। स्वजन ने इसकी जानकारी आसपास के लोगों को दी। इसके बाद घटना की सूचना कोटा पुलिस को दी गई। कोटा पुलिस मौके पर पहुंची तो केवल कंकाल बचा था। पुलिस ने इसे जब्त कर लिया। कोटा में कंकाल का पोस्टमार्टम नहीं हो पाने के कारण डाक्टरों ने शव सिम्स भेज दिया। यहां फोरेंसिक एक्सपर्ट ने जांच के बाद कंकाल स्वजन को सौंप दिया है।