कोटा में एक और NEET स्टूडेंट ने की खुदकुशी;10 दिन में यह चौथा केस, साल का 15वां, भाई का फोन नहीं उठाया तो हुआ शक

395

कोटा, राजस्थान के कोटा में फिर एक स्टूडेंट के सुसाइड का मामला सामने आया है। नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) की तैयारी कर रहा स्टूडेंट अपने हॉस्टल के कमरे में फंदे से लटका मिला। पिछले 10 दिन में सुसाइड का यह चौथा मामला है। इस साल अब तक 15 स्टूडेंट्स सुसाइड कर चुके हैं।

मृतक अनिकेत कुमार (17) उत्तर प्रदेश के बरेली का रहने वाला है। वह कोटा के अन अकेडमी संस्थान से NEET की तैयारी कर रहा था। अनिकेत इंद्र विहार में एक हॉस्टल में किराए से कमरा लेकर रह रहा था। शुक्रवार दोपहर को अनिकेत के भाई ने उसे कॉल किया, लेकिन उसने फोन नहीं उठाया।

कई बार कॉल करने के बाद भी जब उसने कॉल पिक नहीं किया तो भाई ने हॉस्टल की वार्डन को कमरे में जाने के लिए कहा। वॉर्डन ने दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद हॉस्टल में रहने वाले दूसरे स्टूडेंट्स की मदद से जानकारी ली तो अनिकेत अपने कमरे में फंदे पर लटका हुआ था। इसके बाद वार्डन ने अनिकेत के भाई और पुलिस को सूचना दी।

3 साल से रह रहा था कोटा में
अनिकेत के भाई अभिषेक ने बताया कि छोटा भाई कोटा में 3 साल से नीट की तैयारी कर रहा था। उसे 11वीं कक्षा में उसे यहां प्रवेश दिलाया गया था। वह नीट की तैयारी कर रहा था। गुरुवार रात को ही अनिकेत की घर पर बात हुई थी। तब उसने ऐसी कोई बात नहीं बताई। जिससे लगे कि वह परेशान है।

हॉस्टल की वार्डन निर्मला सोलंकी ने बताया कि दूसरे बच्चों की मदद से अंदर देखा तो वह रस्सी से लटका हुआ था। बड़ा सवाल यह भी है कि स्टूडेंट के पास नायलॉन की रस्सी कहां से आई। माना जा रहा है कि वह सुसाइड करने के लिए बाजार से खरीद कर लाया था। जवाहर नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची।

सूचना पर पुलिस अधिकारी वसुदेव ने बताया कि सुसाइड के कारणों की जांच कर रहे हैं। शव को पोस्टमाॅर्टम के लिए MBS अस्पताल भेजा गया है। प्रारंभिक तौर पर सुसाइड की वजह तनाव बताया जा रहा है।

तीन स्टूडेंट ने एकसाथ किया था सुसाइड
इसी महीने 11 दिसंबर को तीन स्टूडेंट ने सुसाइड कर लिया था। इनमें से दो स्टूडेंट तो कोटा के तलवंडी इलाके के एक ही हॉस्टल के थे। जबकि तीसरा स्टूडेंट कुन्हाड़ी इलाके में रहता था। सुसाइड करने वाले दो स्टूडेंट नीट की जबकि एक स्टूडेंट आईआईटी की तैयारी कर रहा था। इनमें दो स्टूडेंट बिहार के व एक स्टूडेंट मध्य प्रदेश का रहने वाला था।