रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के फाइनल में इंडिया;रायपुर में ऑस्ट्रेलिया को 5 विकेट से हराया; नमन की 90 रन की पारी

529

रायपुर, लीजेंड्स नमन ओझा (नाबाद 90) और इरफान पठान (नाबाद 37) की नायाब पारियों के दम पर गुरुवार को शहीद वीर नारायण सिंह इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए पहले सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया लीजेंड्स को पांच विकेट से हराकर रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के फाइनल में प्रवेश कर लिया।

बीते साल फाइनल में श्रीलंका को हराकर रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के पहले संस्करण का खिताब जीतने वाली इंडिया लीजेंड्स ने ऑस्ट्रेलिया द्वारा दिए गए 172 रनों के लक्ष्य को 19.2 ओवरों में पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया। ओझा ने अपनी 62 गेंदों की नाबाद पारी में सात चौके और पांच छक्के लगाए जबकि इस मैच को इंडिया लीजेंड्स की ओर मोड़ने वाले इरफान ने 12 गेंदों पर चार छक्के और दो चौके लगाए। नमन और इरफान ने 22 गेंदों पर 50 रनों की साझेदारी की।

सचिन तेंदुलकर की कप्तानी वाली इंडिया लीजेंड्स फाइनल में किससे भिड़ेगी, इसका फैसला 30 सितंबर को हो जाएगा जब दूसरे सेमीफाइनल में मौजूदा उपविजेता श्रीलंका का सामना वेस्टइंडीज से होगा। यह मैच 29 सितंबर को होना था लेकिन बारिश के कारण इसे पुनर्निर्धारित किया गया है।

इससे पहले, टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया लीजेंड्स ने निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट पर 171 रन बनाए। बुधवार को बारिश के कारण खेल रोके जाने तक कंगारू टीम ने 17 ओवरों में पांच विकेट पर 136 रन बनाए थे। गुरुवार को जब दोपहर के वक्त खेल शुरू हुआ तो ऑस्ट्रेलिया ने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए 18 गेदों में 35 रन जुटा लिए।

ऑस्ट्रेलिया के लिए कप्तान शेन वाटसन ने 30, एलेक्स डूलन ने 35, बेन डंक ने 46 और कैमरन व्हाइट ने नाबाद 35 रन बनाए। विकेटकीपर बल्लेबाज ब्रैड हेडिन 12 रनों पर नाबाद लौटे। इंडिया लीजेंड्स की ओर से यूसुफ पठान और अभिमन्यु मिथुन ने दो-दो विकेट लिए जबकि राहुल शर्मा को एक सफलता मिली।

वाटसन और डूलन ने अच्छी शुरुआत करते हुए पहले विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी की। इन दोनों ने 43 गेदों पर 70 रनों की साझेदारी की। वाटसन 21 गेंदों पर 6 चौके लगाने के बाद आउट हुए। डूलन भी अधिक देर तक नहीं टिक सके और 78 के कुल योग पर 31 गेंदों पर पांच चौके लगाने के बाद यूसुफ का शिकार हुए। यूसुफ ने कैलम फर्ग्यूसन (10) और मिथुन ने नेथन रियरडन (5) को अधिक देर नहीं टिकने दिया लेकिन बेन डंक ने बेहतरीन शाट्स लगाते हुए दर्शकों का मनोरंजन किया। 131 रन पर पवेलियन लौटने वाले डंक ने 26 गेंदों पर पांच चौके और दो छक्के लगाए। इसके बाद हेडिन विकेट पर आए लेकिन साथ ही बारिश भी आ गई। बारिश के कारण बुधवार को आगे का मुकाबला नहीं हो सका और इसे गुरुवार को वहीं से शुरू करने का फैसला किया गया. जहां वह खत्म हुआ था। उस समय व्हाइट 6 और हेडन एक रन पर नाबाद थे।

जवाब में भारत ने भी अच्छी शुरुआत। कप्तान सचिन तेंदुलकर (10) और नमन ओझा ने पहले विकेट के लिए 32 गेंदों पर 38 रन जोड़े। सचिन हालांकि बड़ा स्कोर नहीं कर सके और इसी योग पर आउट हुए। सचिन ने 11 गेंदों का सामना कर दो चौके लगाए। इसके बाद सुरेश रैना (11) भी सस्ते में आउट हुए लेकिन ओझा एक छोर संभाले रखते हुए टीम को 100 के पार पहुंचाया।ओझा ने 35 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। इसी के साथ ओझा ने युवराज सिंह ( 18 रन, 2 चौके) के साथ तीसरे विकेट के लिए 50 रनों की साझेदारी भी पूरी की लेकिन युवी 115 के स्कोर पर पवेलियन लौट गए। इसके बाद स्टुअर्ट बिन्नी (2) ने भी निराश किया। इंडिया लीजेंड्स को 5 ओवर में 50 रनों की जरूरत थी। यूसुफ पठान (1) से काफी उम्मीदें थीं क्योंकि वह इस तरह के हालात में टीम को जिता सकते थे लेकिन कप्तान शेन वाटसन ने इस खतरे को टाल दिया। उनकी जगह छोटे भाई इरफान ने ली। टीम को अब 4 ओवरों में जीत के लिए 47 रनों की जरूरत थी। इरफान ने अपना संयम बनाए रखा और ओझा के साथ मिलकर टीम को मुश्किल हालात से ऐसी स्थिति में पहुंचा दिया जहां इंडिया लिजेंड्स को जीत के लिए 10 गेंदों पर सिर्फ 11 रनों की जरूरत थी। इरफान ने डिर्क नेन्स द्वारा फेंके गए 19वें ओवर में तीन छक्के लगाया और टीम फाइनल में पहुंचा दिया। ऑस्ट्रेलिया लीजेंड्स नेथन रियरडन, ब्रायस मैक्गेन, जेसन क्रेजा ने एक-एक विकेट लिए जबकि कप्तान वाटसन को दो सफलता मिली।