07 june 2020

City News – CN

रायपुर। Shankar Nagar Ward: राजधानी में स्मार्ट सिटी सिर्फ फाइलों में सिमट कर रह गई है। शहरवासियों को स्मार्ट सिटी की सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। नालियों में सफाई नहीं हो रही है। थोड़ी सी बरसात में नालियों का पानी सड़कों पर बहने लगता है। स्मार्ट सिटी के नाम पर केवल खानापूर्ति की जा रही है। राजधानी के शंकर नगर वार्ड के रहवासियों को नगर निगम मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने में विफल होता दिखाई दे रहा है।

वार्ड में जोन कार्यालय होने के बावजूद क्षेत्र की व्यवस्था लचर दिखाई पड़ रही है। न्यू शांति नगर से गोरखा कॉलोनी तक नाला संकरा होने से बरसात के समय सड़कों पर गंदा पानी बहने लगता है। इससे मोहल्लेवासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं शंकर नगर मुख्य मार्ग के किनारे बनी नाली महीनों से साफ नहीं हुई है। इसके चलते नाली जाम हो गई है। बावजूद इसके, निगम के अधिकारी खामोशी का लाबादा ओढ़े हुए हैं।

रायपुर नगर निगम के अंतर्गत शंकर नगर वार्ड की जनसंख्या करीब 20 हजार और मतदाता 10 हजार से अधिक हैं। पॉश इलाके में तो समस्याएं उतनी नहीं हैं, लेकिन जैसे ही न्यू शांति नगर से गोरखा कॉलोनी पहुंचेंगे तो समस्याओं का अंबार दिखाई पड़ता है।

वार्डवासियों की मानें तो सेक्टर दो में अंडरग्राउंड नाला है, जिसकी सफाई सालों से नहीं हुई है। नाली पूरी तरह से कचरे से पटा हुआ है। इसकी वजह से बदबू उठ रही है, मच्छर भी पनप रहे हैं।

स्कूल के सामने भर जाता है पानी

गोरखा कॉलोनी स्थित भारतीय स्कूल के पास नाली संकरी होने की वजह से बरसात के दिनों में जलभराव की स्थिति निर्मित हो जाती है। इससे सड़कों पर चारों तरफ गंदगी फैल जाती है। इस कारण मोहल्लेवासियों को बारिश होने पर समस्या का सामना करना पड़ता है।

मोहल्लेवासी जलभराव की समस्या की जानकारी कई बार निगम के अधिकारियों को दे चुके हैं, लेकिन अब तक समस्या का निराकरण नहीं किया गया है।

मच्छरों का खतरा ज्यादा

शंकर नगर सेक्टर दो के निवासियों को दिन ढलते ही मच्छरों के प्रकोप का सामना करना पड़ता है। मोहल्लेवासियों का कहना है कि सालों से नाली की सफाई नहीं हुई है। वहीं क्षेत्र में कीटनाशक का भी छिड़काव नहीं किया गया है। इसकी वजह से मच्छरों का प्रकोप बढ़ते जा रहा है। हालात ऐसे हैं कि बिना मच्छर अगरबत्ती जलाए घर में बैठ नहीं सकते।

क्या कहते हैं वार्डवासी

– लंबे समय से नाली की सफाई नहीं हुई है। बारिश होते ही कचरा-गंदगी सड़क पर आ जाती है, जबकि शंकर नगर का यह मुख्य मार्ग है। इसके बावजूद निगम के कर्मचारी अनदेखी कर रहे हैं। – नीलेश वर्मा, दुकानदार

– खुला नाला होने की वजह से बारिश में जाम हो जाता है। मुख्य मार्ग के नाले के साथ ही सेक्टर दो के नाले की भी सफाई नहीं हुई है, जबकि कुछ ही दिन में मानसून आने वाला है। निगम की अनदेखी की वजह से संक्रमण फैलने का खतरा है। – मनोज मसंद, रहवासी

– न्यू शांति नगर से गोरखा कॉलोनी तक नाले के कचरे की सफाई नहीं होने से पानी भर जाता है। वहीं भारतीय स्कूल के पास से गुजरना मुश्किल हो जाता है। वहां बारिश में जलभराव हो जाता है। – त्रिलोचन साहू, रहवासी

– नालियों की सफाई नहीं होने से जल निकासी नहीं हो पाती। गंदे पानी से उठती दुर्गंध की वजह से काफी मुश्किल होता है। नालियों की सफाई नहीं होने से मच्छर पनप रहे हैं। – धीरेंद्र साहू, रहवासी

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए  – 

हमारे   FACEBOOK  पेज को   LIKE   करें

सिटी न्यूज़ के   Whatsapp   ग्रुप से जुड़ें

हमारे  YOUTUBE  चैनल को  subscribe  करें

Source link