SALE 80% OFF| 100 मास्क | ऑफर सिर्फ इस हफ्ते तक | अभी खरीदें | सुरक्षित रहें

रेत खदान में जिपं सदस्य के उतरवाए कपड़े, रॉड व डंडों से 3 घंटे पीटा, 2 के हाथ ताेड़े, 7 हिरासत में, 15 पर एफआईआर

  • रेत की अवैध निकासी की सूचना पर साथियाें के साथ गए थे जोरातराई खदान, खनिज व पुलिस अफसरों पर पिटवाने का आरोप

20 june 2020,

City News – CN      City news logo

धमतरी | खदान वाले अब तक अफसरों से मिलीभगत कर रेत की अवैध निकासी कर रहे थे। अब गुुंडगर्दी पर उतर आए हैं। गुरुवार रात अवैध निकासी की सूचना पर साथियों के साथ रेत खदान पर गए जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव से मारपीट की गई।

जोरातराई रेत खदान पर कपड़े उतरवाकर, मुर्गा बनाकर बेल्ट, राॅड, डंडों से तीन घंटे तक बेरहमी से पिटाई की गई। दो के हाथ तोड़ दिए। 5 मोबाइल भी छीन लिए हैं। इस मामले में 15 लोगों पर एफआईआर हुई है। इनमें से 7 को हिरासत में लिया है। बाकी फरार हैं।

इस मामले में खनिज व पुलिस अफसरों पर मिलीभगत के आरोप लगे हैं।  जानकारी के मुताबिक कुरूद ब्लॉक की जोरातराई रेत खदान में अवैध खनन की सूचना पर जिपं सदस्य खूबलाल ध्रुव सहित उसके 3 अन्य दोस्त गए थे। खदान पर काम करने वालों ने इन चारों को बंधक बनाकर पिटाई कर दी।

चारों जान बचाकर धमतरी आए। पिटाई से खूबलाल ध्रुव, उपसरपंच आरती सिन्हा का हाथ टूट गया है। 2 अन्य साथी सलोनी निवासी मोक्ष साहू, भोथली के मित्तल साहू के चेहरे में चोटें आई हैं। रुद्री थाने में शिकायत के बाद पुलिस ने नागू चंद्राकर सहित 15 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

पिटाई से गंभीर चारों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। महपौर विजय देवांगन ने इस मामले में सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि इस मामले की कांग्रेस निंदा करती है। 

जांच के लिए डायरी कुरूद थाना भेजी: रुद्री टीआई

रुद्री टीआई युगलकिशोर नाग ने बताया कि खूबलाल ध्रुव की शिकायत पर नागू चंद्राकर सहित करीब 15 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। सभी के खिलाफ धारा 294, 323, 506, 147, 148, 149, 342, 390 व अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है। घटना कुरूद थाना क्षेत्र के जोरातराई की है इसलिए थाने में एफआईआर कर जांच के लिए डायरी कुरूद थाना भेजी है। 

तुरंत पुलिस जवानों को भेजा था : कुरूद टीआई

कुरूद टीआई विपिन लकड़ा ने कहा कि रात में जोरातराई खदान में मारपीट की सूचना मिली। तुरंत जवानों को घटना स्थल भेजा था। 7 को हिरासत में लिया गया। इनमें उत्तर प्रदेश निवासी गुरदीप सिंह (38), करण (35) पिता विनोद जोशी, देवरिया निवासी राजेश (37) तिवारी, टहाखुर्द के रमनदीप सिंह (24), मध्यप्रदेश के लेधोरा निवासी अवधेश (22)पिता राजेंद्र सिंह, जसवीर सिंह (22)पिता मेवासिंह व टनोई श्याम (23)पिता शिवनाथ गुप्ता शामिल हैं।

राज्यपाल के नाम डिप्टी कलेक्टर को दिया ज्ञापन

जिपं सदस्य खूबलाल ध्रुव के साथ मारपीट होने पर भाजपाई शुक्रवार दोपहर 12 बजे घड़ी चौक से रैली निकालकर कलेक्टोरेट गए। पुलिस ने मेन गेट पर ही भाजपा नेताओं को रोक लिया। इस दौरान जिला प्रशासन, पुलिस और राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई।

राज्यपाल के नाम डिप्टी कलेक्टर जितेंद्र कुर्रे को ज्ञापन दिया। विधायक रंजना साहू, जिलाध्यक्ष शशि पवार, रामू रोहरा, नरेंद्र रोहरा, कविंद्र जैन सहित अन्य भाजपा नेताओं ने कहा कि 48 घंटे के अंदर आरोपियों की गिरफ्तार और खनिज अफसरों पर कार्रवाई नहीं होती है तो कलेक्टोरेट के सामने भूख हड़ताल करेंगे। 

विधानसभा नेता प्रतिपक्ष बोले- तुरंत हो गिरफ्तारी

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने इस मामले में गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि प्रदेश में राज्य सरकार के संरक्षण में रेत का अवैध खनन कराया जा रहा है। 15 जून से रेत खदानें बंद हैं। इसके बाद भी रेत निकाली जा रही है।

रेत की अवैध निकासी की सूचना पर जाने वाले जनप्रतनिधियों के साथ अब मारपीट की जाने लगी है। जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव के साथ की गई मारपीट इसका उदाहरण है। अफसर कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। इस मामले में तुरंत आरोपियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए। मामले की जांच कर कार्रवाई होनी चाहिए।

दरवाजे की कुंडी तोड़कर नहीं भागते तो जान से मार देते

कुरूद ब्लॉक के जोरातराई रेत खदान में अवैध रेत निकासी की सूचना 18 जून को रात करीब 8 बजे मिली। मैं मोक्ष साहू, मित्तल साहू, आरती सिन्हा सहित करीब 10 लोग खदान पर रात 12 बजे गए। खदान पर 2 चैन माउंटेन से डंपर में रेत भरी जा रही थी।

खदान के अंदर करीब 130 डंपर थे। कुरूद निवासी खदान संचालक नागू चंद्राकर से अवैध रेत खनन बंद करने कहा तो उन्होंने मारपीट शुरू कर दी। काम करने वाले करीब 50 लोगों ने चारों ओर से घेर लिया। मेरे साथ 3 अन्य लोगों को बंधक बनाकर पास के एक कमरे में ले गए।

सभी के कपड़े उतरवाकर बेल्ट, रॉड, डंडों से पिटाई की। 5 मोबाइल भी छीन लिए। मुझे रेत खदान के गड्ढे में डालने की तैयारी थी। करीब 3 घंटे पिटाई के बाद सभी बाहर आए। जैसे-तैसे दरवाजे की कुंडी तोड़कर भागे। कमरे से नहीं भागते तो जान से मार सकते थे।

कुरूद पुलिस से मदद मांगी। कुछ पुलिस अधिकारी, जवान खदान पर आए। उनके सामने भी पीटा गया। पुलिसकर्मी मूकदर्शक बनकर देखते रहे। करीब 6 बजे रुद्री थाना गए। यहां शिकायत कराई। 
जैसा जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव ने बताया 

    FOR LATEST NEWS UPDATES   

  LIKE US ON FACEBOOK  

 JOIN WHATSAPP GROUP 

 SUBSCRIBE YOUTUBE CHANNEL 

Source link

Share on :