रेस्टोरेंट में ऑर्डर के लिए कर रहे QR कोड का इस्तेमाल, क्षमता से 50% लोगों को ही प्रवेश, टेबल के बीच 4 फीट की दूरी

  • ठंडे पानी के बजाय अब दे रहे गुनगुना पानी, बाउल की जगह छोटे पैकेट में दे रहे माउथ फ्रेशनर
  • शहर में छोटे-बड़े लगभग 600 रेस्टोरेंट हैं
  • दोपहर 12 से लेकर रात 9 बजे तक खुले रहेंगे शहर के रेस्तरां और होटल

28 june 2020,

City News – CN  City news logo

रायपुर | अपनों के साथ होटल व रेस्तरां में खाना खाने का इंतजार अब खत्म हो चुका है। शहर के होटल और रेस्टोरेंट खुलने के बाद यहां जायकेदार खाने की खुशबू फिर महकने लगी है, लेकिन यहां का नजारा काफी बदल चुका है।

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए होटल में ग्राहकों के प्रवेश, किचन में खाना बनाने, बैठने की व्यवस्था, खाना पराेसने का अंदाज बदला नजर आया। हर ग्राहक को हैंड सैनिटाइज और थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है।

टेबल से मेन्यू कार्ड हटा दिया गया है। अब क्यूआर कोड को स्कैन करने के बाद मोबाइल पर मेन्यू देखकर ग्राहक खाने का ऑर्डर कर रहे हैं। बिल का भुगतान भी डिजिटली हो रहा है। शहर के ज्यादातर होटल और रेस्टोरेंट ने ग्राहकों के बैठने की क्षमता आधी कर दी है।

दूरी बनाए रखने के लिए 4 से 6 लोगों के बैठने की क्षमता वाली टेबल पर अब सिर्फ दो से तीन लोगों को बैठने की इजाजत है। किन सावधानियों के बीच लोगों ने खाने का लुत्फ उठाया |

होटल कोर्टयार्ड मैरियट, शाम 05:10 बजे
थर्मल स्क्रीनिंग के बाद प्रवेश, मोबाइल पर मेन्यू देखकर पसंदीदा खाना किया ऑर्डर

पल्लवी राय और नेहा शर्मा बर्गर और पिज्जा खाने होटल पहुंचे। प्रवेश करने से पहले उनकी थर्मल स्क्रीनिंग और हैंड सैनिटाइज किया गया। यहां बैठने की व्यवस्था में बदलाव दिखे। फूड जोन में पहले 96 कुर्सियां थीं, इसे घटाकर अब 50 कर दिया गया है।

नेहा ने टेबल पर रखे वन टाइम यूज्ड क्यूआर कोड को स्कैन किया और कुछ ही सेकेंड में मोबाइल पर मेन्यू आ गया। उन्होंने पसंदीदा फूड ऑर्डर किया। इस दौरान पल्लवी और नेहा आमने-सामने डेढ़ फीट की दूरी पर बैठीं। नेहा ने बिल का भुगतान भी क्यूआर कोड के जरिए किया। दोनों के जाने के बाद टेबल और कुर्सी सैनिटाइज की गई और मेन्यू का दूसरा क्यूआर कोड रखा गया। 

होटल सेलिब्रेशन, शाम 06:00 बजे
140 सीट के होटल में अब सिर्फ 76 कुर्सियां सेफ्टी किट पहनकर वेटर ने परोसा खाना 

राजस्थानी खाने का स्वाद चखने सार्थक मिश्रा अपने दोस्त विपुल चौधरी के साथ होटल पहुंचे। यहां हर टेबल के बीच लगभग 4 फीट का फासला रखा गया है। 140 लोगों के बैठने की क्षमता वाले हाॅल में अब सिर्फ 76 लोग ही बैठ सकते हैं। यहां भी क्यूआर कोड के जरिए ऑर्डर देने की व्यवस्था है।

सार्थक के ऑर्डर करने के बाद ग्लव्स, शॉवर कैप, फेस शील्ड, एप्रन और मास्क पहने वेटर ने टेबल पर खाना रखा। दूरी बनाए रखने के लिए वेटर ने अपने दाहिने पैर को आगे बढ़ाकर दाहिने हाथ से खाने की प्लेट टेबल पर रखी। खाना खत्म करने के बाद सार्थक ने बिल का भुगतान क्यूआर कोड से किया।

इन एहतियात के साथ परोस रहे हैं जायका

  • बड़े होटल में बरत रहे दोहरी सुरक्षा। मुख्य प्रवेश द्वार के अलावा कैफे के गेट पर भी कर रहे थर्मल स्क्रीनिंग और हैंड सैनिटाइजेशन 
  • ज्यादातर होटल और रेस्तरां में इस्तेमाल कर रहे हैं डिस्पोजेबल गिलास, प्लेट और चम्मच।
  • होटल स्टाफ के लिए हर एक घंटे में हैंडवॉश करना अनिवार्य। इसके लिए खासतौर पर सेट किया गया है अलार्म।
  • टेबल से नमक या चाट मसाले की छोटी-छोटी बॉटल हटा ली गई हैं, ताकि ग्राहक इसे न छुएं।
  • ग्राहक के जाते ही टेबल और कुर्सी को कर रहे हैं सैनिटाइज।

 ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए हमारे

   YOUTUBE चैनल को सब्सक्राइब करें  

           WHATSAPP   ग्रुप से जुड़ें          

Source link

Share on :