Whatsapp button

 

रायपुर। प्रदेश में शनिवार को कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1 लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है। शनिवार से ठीक 178 दिन पहले 18 मार्च 2020 को रायपुर में पहली कोरोना मरीज मिली थी, जो लंदन से रायपुर लौटी थी। उस दिन रायपुर समेत पूरा छत्तीसगढ़ दहशत में था। मगर, आज हर 25 जिलों में 1 हजार से अधिक संक्रमित मरीज हैं। इस महामारी में हमने अपने 817 नागरिक खो दिए। करोड़ों का आर्थिक नुकसान हो रहा है। इसके बावजूद मानो किसी को कोई डर ही नहीं रह गया…। मानो सब सामान्य ही है।

28 सितंबर की मध्य रात्रि को खत्म हो रहा सात दिन से जारी लॉकडाउन

कोरोना महामारी पर काबू पाने के लिए राजधानी रायपुर सहित अन्य जिलों में लॉकडाउन लगाया गया है। राजधानी में 21 सितंबर की रात 9 बजे से लॉकडाउन 28 सितंबर की मध्य रात्रि को खत्म हो जाएगा। इसी क्रम में सरकार ने लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने या फिर खोलने को लेकर चर्चा के लिए 28 सितंबर को समीक्षा बैठक बुलाई है।

राज्य सरकार के कैबिनेट मंत्री व प्रवक्ता मोहम्मद अकबर ने शनिवार को मीडिया से कहा कि लॉकडाउन की समीक्षा के लिए 28 सितंबर को बैठक होगी। कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर ने मीडिया को जानकारी दी कि लॉकडाउन की अंतिम तारीख 28 सितम्बर है। इस दिन लॉकडाउन की अवधी बढ़ाने या फिर नहीं बढ़ाने को लेकर समीक्षा बैठक की जाएगी।

लॉकडाउन के बाद भी राजधानी रायपुर में कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रह हैं। जिसे लेकर सरकार की चिंता बढ़ गई है। फिलहाल उम्मीद जताई जा रही है कि सख्त लॉकडाउन से कोरोना की चैन टूटेगी।

बता दें राजधानी रायपुर में लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोत्तरी को देखते हुए वायरस की चेन तोडऩे लिए कलेक्टर ने सात दिनों के लिए लॉकडाउन लगाए जाने का आदेश दिया था। 22 सितंबर से जारी लाकडाउन 28 सितंबर की मध्य रात्रि को खत्म हो जाएगा।

प्रदेश में अब तक-

10,2461- कुल संक्रमित
30,689- एक्टिव

70,955- डिस्चार्ज
817- मौत

24 घंटे में सर्वाधिक 3,896 नए मरीज रिपोर्ट हुए

प्रदेश में शनिवार को 24 घंटे में सर्वाधिक 3,896 लोगों में वायरस की पहचान हुई। 3,187 मरीज स्वस्थ भी हुए। मगर, एक बार फिर मृतकों की संख्या 20 का आंकड़ा पार करते हुए 23 तक जा पहुंची। इनमें होम गार्ड अंतर्गत संचालित फायर ब्रिगेड अधीक्षक मोइनुद्दीन अशरफी भी हैं। फायर बिग्रेड कर्मचारियों से मिली जानकारी के मुताबिक अशरफी 15 दिन पहले संक्रमित पाए गए थे। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। बाद में उन्हें आंबेडकर अस्पताल में शिफ्ट किया गया।

शनिवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। हालांकि बीते कुछ दिनों से संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आई है। इनमें रायपुर संभाग में 8, दुर्ग में 10, सरगुजा में 2, बिलासपुर और बस्तर संभाग में 1-1 व्यक्ति की मौत हुई।।