SALE 80% OFF| 100 मास्क | ऑफर सिर्फ इस हफ्ते तक | अभी खरीदें | सुरक्षित रहें

रायपुर में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर हुई 71

18 june 2020

City News – CN      City news logo

रायपुर | जिले में कोरोना संक्रमितों का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। अब तक 152 से अधिक कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं फिर भी स्वास्थ विभाग की तरफ से सैंपल लेने में कोताही बरती जा रही है। इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि जिले में 71 कंटेनमेंट एरिया है।

सैंपल लेने के लिए तीन सदस्यीय 12 टीम भी गठित की गई है, लेकिन प्रतिदिन सिर्फ 200 से 250 सैंपल नहीं लिए जा रहे हैं। जबकि शुरुआती दौर में 300 से 400 सैंपल लिए जा रहे थे।स्वास्थ्य विभाग कि अधिकारियों का कहना है कि प्रतिदिन जितना सैंपल लेने का लक्ष्य मिला है उसको पूरा किया जा रहा है।

यदि उच्च अधिकारियों से सैंपल बढ़ाने का निर्देश मिलेगा तो उसे बढ़ाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के एक आला अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यदि सैंपल लेने और जांच क्षमता बढ़ाई जाए तो कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा दोगुना रहता।

अभी तक जितने भी कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं उसमें से अधिकतर के सैंपल काफी पहले ही लिए गए थे। कोरोना संक्रमण की शुरुआत से अब तक रायपुर जिले में सिर्फ 11109 सैंपल लिए गए हैं। इसमें 4296 रैपिड टेस्ट, 4085 आरटी-पीसीआर तथा 2724 सैंपल की जांच ट्रू-नॉट मशीन से हुई है।

विशेषज्ञों का कहना है कि राजधानी में जब पहली कोरोना संक्रमित मरीज मिली थी तो उस एरिया को सील कर हाई रिस्क के साथ-साथ प्राइमरी कांटेक्ट वालों की तलाश कर सैंपल लिया गया था। वहीं, अब मरीज मिलने पर सिर्फ हाई रिस्क वालों का ही सैंपल लिया जा रहा है।

डोर टू डोर किया जा रहा सर्वे

कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन को तोड़ने और बीमारी के समुदाय में फैलने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम क्वारंटाइन सेंटर्स के आसपास के घरों और कंटेनमेंट एरिया में डोर टू डोर सर्वे कर रही है। कोरोना संदिग्धों के अलावा ऐसे मरीजों की भी खोज की जा रही है जो पूर्व में किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं।

ऐसे लोगों का इम्यूनिटी लेवल कम होता है, जिससे वे कोरोना वायरस के संक्रमण की जद में आ सकते हैं। रायपुर जिले में 425 क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए हैं, जिनके आसपास के घरों में जाकर डोर टू डोर सर्वे किया जा रहा है। इसमें सर्दी, खांसी, बुखार, पेट दर्द, भूख न लगना संबंधित व्यक्तियों का लिस्ट तैयार किया जा रहा है।

रायपुर सीएमएचओ डॉ मीरा बघेल ने कहा कि कंटेनमेंट एरिया समेत अन्य जगहों से सैंपल लिया जा रहा है। हमें जितना लक्ष्य मिला है उसको पूरा किया जाना है। स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर सर्दी, खांसी, बुखार व सांस लेने में तकलीफ वाले मरीजों की तलाश की जा रही है।

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए  – 

हमारे   FACEBOOK  पेज को   LIKE   करें

सिटी न्यूज़ के   Whatsapp   ग्रुप से जुड़ें

हमारे  YOUTUBE  चैनल को  subscribe  करें

Source link

Share on :