Home India news Chhattisgarh news
festival

रायपुर के खारुन विसर्जन कुंड में हर साल लगभग 8 हजार मूर्तियां होती थीं विसर्जित, कोरोना के कारण इस साल दो हजार प्रतिमाएं भी मुश्किल से पहुंचेगी

City News Raipur – free e-paper
( पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें…)

Whatsapp button

राजधानी रायपुर के खारुन विसर्जन कुंड में हर साल लगभग 8000 छोटी-बड़ी प्रतिमाएं विसर्जित होती हैं लेकिन इस साल कोरोना के कारण राजधानी में बहुत कम ही लोगों और समितियों ने गणेश जी की स्थापना की है।

इसलिए इस साल विसर्जन कुंड में 2000 प्रतिमाएं भी बड़ी मुश्किल से पहुंचेगी। हालांकि निगम अफसरों का दावा है कि वे अपनी ओर से पूरी तैयारी कर रहे है।

यह भी पढ़े –  पिता की फटकार पुत्र को लगी बुरी; रोते हुए घर से निकलकर युवक ने भाई को बुलाया और नदी में कूद गया, तलाश जारी…

रायपुर निगम ने इस साल 52 समितियों को गणेश स्थापना की अनुमति दी है। कोरोना की वजह से प्रशासन ने गणेश समितियों के लिए बहुत सख्त नियम बनाए हैं, जिसकी वजह से कई समितियां इस साल गणेश स्थापना नहीं कर रही हैं।

शहर में प्रमुख रूप से राठौर चौक, रामसागर पारा, पुरानी बस्ती, गोल बाजार, गुढ़ियारी पड़ाव, कालीबाड़ी आदि जगह पर काफी बड़ी गणेश प्रतिमा स्थापित होती हैं और यहां पर स्थल सजावट भी बहुत सुंदर होती है लेकिन कोरोना महामारी की वजह से इस साल इन बड़े और प्रमुख गणेशोत्सव समितियों के अलावा अधिकांश छोटी समितियों ने भी गणेश स्थापना में उत्साह नहीं दिखाया है।

शहर में लगभग 2000 बड़ी प्रतिमाओं की स्थापना होती है। इसके अलावा छोटी प्रतिमाएं और घरों में भी गणेश मूर्तियों की स्थापना की जाती हैं।

यह भी पढ़े –  घर के सामने खेल रहे दो मासूम बच्चों पर स्ट्रीट डाॅग ने किया हमला, डाॅग ने बच्ची के सिर की स्किन ही फाड़ दी

ज्यादातर लोगों ने घरों पर ही गणेश स्थापना की है और यह संभावना है कि लोग घरों में ही प्रतिमाओं का विसर्जन करेंगे।

भीड़-भाड़ से बचने के लिए लोग विसर्जन कुंड या आसपास तालाबों के किनारे अस्थाई रूप से बनाए जाने वाले विसर्जन कुंड में कम ही पहुंचेंगे।

एक से चार सितंबर तक विसर्जन
निगम ने इस साल भी प्रतिमाओं को विसर्जित करने के लिए खारुन विसर्जन कुंड में तैयारियां शुरू कर दी है। 1 से 4 सितंबर तक प्रतिमाओं का विसर्जन होगा।

यह भी पढ़े –  कांग्रेस ने भाजपा को ठहराया सही : राजधानी रायपुर में निर्माणाधीन स्काई वॉक के पुनः निर्माण को लेकर राजनीतिक बयान बाज़ी तेज…

1 तारीख को सुबह 6:00 बजे से कुंड में प्रतिमाएं विसर्जित की जा सकेंगी, जो 4 सितंबर को दोपहर 2:00 बजे तक हो सकेंगें। निगम कमिश्नर ने इसी के अनुरूप अफसरों को जिम्मेदारी दी है।

खारुन कुंड में प्रतिमाओं के विसर्जन की व्यवस्था से लेकर वहां पहुंचने तक की तमाम व्यवस्थाएं की जाएंगी। रोशनी से लेकर मूर्तियों को ले जाने की व्यवस्था में भी की जाएंगी।

अफसरों की समिति गठित : अधिकारियों की एक समिति गठित की गई है। इस समिति में अधीक्षण अभियंता बीआर अग्रवाल मो.नं. 9301953225, नगर निवेश सहायक अभियंता निशिकांत वर्मा मो. नं. 8349864868, जोन 8 कमिश्नर अरूण ध्रुव मो.नं. 9424238392, जोन 6 कमिश्नर दिनेश कोसरिया मो.नं. 7691903630, स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. तृप्ति पाणिग्रही मो.नं. 7869925079, कार्यपालन अभियंता जल बीएल चंद्राकर मो.नं. 9301953236 है।

Youtube button

    विज्ञापन हेतु  संपर्क करें।  

Source link