रायपुर.  एम्स के एक डॉक्टर पर उनकी ही पत्नी ने गंभीर आरोप लगाएं है. न्याय की गुहार लेकर पीड़िता महिला आयोग पहुंची थी. छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग ने शास्त्री चौक रायपुर स्थित आयोग कार्यालय में महिलाओ से संबंधित प्रकरणों पर आज जन सुनवाई आयोग के अध्यक्ष डॉ किरणमयी नायक ने नव नियुक्त सदस्यगण श्रीमती नीता विश्कर्मा, श्रीमती अर्चना उपाध्याय, सुश्री शशिकांता राठौर के साथ की.

एक प्रकरण में आवेदिका ने एम्स में कार्यरत अपने पति पर आरोप लगाया कि…

“वह शराब, गांजा पीकर उनके साथ अश्लील गाली गलौज करते है.पति द्वारा रेप की कोशिश के साथ-साथ अश्लील वीडियो बनाने की भी कोशिश करते हैं. उन्होंने बताया कि महज 2 माह पहले ही उनकी शादी हुई है.इस विवाह में अनावेदक के परिवार से कोई शामिल नही हुआ था तथा आज तक उसने स्वयं भी अपने ससुराल पक्ष के लोगो से नहीं मिली है. विवाह का सारा खर्च आवेदिका द्वारा व्यय किया गया है. इसके साथ ही उन्होंने अध्यक्ष को अवगत कराया कि वर्तमान में मेकाहारा में इन्टर्नशिप कर रहे उनके साथी, पति की सभी गलती को छुपाते और उसे सहयोग करते है. इससे उनकी शादी शुदा जिंदगी खराब हो रही हैं. पति और उनके दोस्त द्वारा अन्य लड़कियों को घर पर भी लाया जाता हैं. इस प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए अध्यक्ष डॉ नायक ने कहा कि नशा कर पत्नि के साथ अश्लील हरकत करना मानसिक असंतुलन है. पति को ऐसी हरकतों को बंद करने की हिदायत देते हुए समस्त दस्तावेजो के साथ उनकी मां और भैया-भाभी तथा उनके दोस्त को उनकी विश्रामपुर(अम्बिकापुर) में पदस्थ पत्नी के साथ आयोग की सदस्य श्रीमती नीता विश्वकर्मा के समक्ष उपस्थित होने के निर्देश दिये.”