• जिले का पहला कोरोना पीड़ित भी क्वारेंटाइन पूरा कर जा चुका था घर
  • जिले में अब एक्टिव केस 47 हुए 62 में से 15 लोग हो चुके हैं स्वस्थ

13 june 2020

City News – CN

महासमुंद | जिले में जो काेरोना के पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं, उसमें से अधिकांश लोग अन्य राज्यों से वापस लौटे हैं। यही नहीं कोरोना पॉजिटिव की जो रिपोर्ट सामने आ रही है, वह भी क्वारेंटाइन अवधि पूरी करने के बाद। ऐसे में पॉजिटिव केस आने वाले क्षेत्र में संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है। पिछले 15 दिनों में महासमुंद जिले में कोरोना के कुल 62 पॉजिटिव केस सामने आए हैं।

इनमें से 7 केस में देखने को मिला है कि कोरोना पॉजिटिव मरीज क्वारेंटाइन अवधि पूरी कर घर लौट चुके थे, तब उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। दरअसल, बुधवार को जिले के सरायपाली ब्लॉक में जिन 7 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, उनमें से 6 अपने घर जा चुके थे। यही नहीं जिले में कोरोना का जो पहला पॉजिटिव केस सामने आया था, उसमें भी यही हुआ था।

29 मई को जिले के संतपाली गांव में कोरोना का पहला मरीज मिला था और उसी दिन उसकी क्वारेंटाइन अवधि पूरी हुई थी। इधर, इस मामले में कोरोना नियंत्रण अभियान के राज्य नोडल अधिकारी डॉ. अखिलेश त्रिपाठी का कहना है कि यदि किसी व्यक्ति का सैंपल जांच के लिए गया हुआ है और उसकी क्वारेंटाइन अवधि पूरी हो जाती है तो भी उसे घर नहीं जाने दिया जाना चाहिए। यदि ऐसा हो रहा है तो यह गलत है।

राहत : तीन और मरीज ने कोरोना को हराया 

जिले में कोरोना को हराने वाले तीन फाइटर्स ठीक होकर वापस लौट आए हैं। गुरुवार को एम्स और माना कोविड अस्पताल से 3 कोरोना पॉजिटिव मरीज स्वस्थ होकर वापस लौटे हैं। इस तरह जिले में कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 15 पहुंच चुकी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बागबाहरा शहर के 14 वर्षीय युवक को पाॅजिटिव पाए जाने के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था, जहां से गुरुवार को उसे छुट्टी दे दी गई। इसी तरह बसना ब्लॉक के ग्राम जलकोट एवं भूकेल के रहने वाले दो युवा भी स्वस्थ होकर वापस लौटे हैं। इस तरह जिले में अब एक्टिव केस की संख्या 47 पहुंच गई है।

समझिए, कितनी देर में आ रही रिपोर्ट

संतपाली निवासी एक व्यक्ति 16 मई को अन्य राज्य से वापस लौटा था और 18 को उसका सैंपल लिया गया। 29 मई को वह क्वारेंटाइन अवधि पूरी कर घर पहुंचा ही था, तभी उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।आवलाचक्का की एक महिला 24 मई को दूसरे राज्य से वापस आई थी। 7 जून तक महिला क्वारेंटाइन सेंटर में थी।

इसके बाद क्वारेंटाइन अवधि पूरी होने पर उसे घर छोड़ दिया गया। 10 जून को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ग्राम पलसापाली निवासी एक प्रवासी मजदूर 14 मई को वापस गांव लौटा था। उसे 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन किया गया। 28 मई तक वह सेंटर में रहा था, पर उसकी रिपोर्ट 10 जून को आई, जो पॉजिटिव थी।

अपील: 14 दिन क्वारेंटाइन के बाद 10 दिन का होम आइसाेलेशन जरूर पूरा करें

14 दिन क्वारेंटाइन सेंटर में रहने के बाद यदि कोई व्यक्ति घर जाता है तो ऐहतियात के तौर पर 10 दिन होम आइसोलेशन पर रहें। ये जरूरी भी है। राज्य नोडल अधिकारी डॉ. अखिलेश त्रिपाठी बताते हैं राज्य में कई प्रकरण ऐसे आए हैं, जिसमें क्वारेंटाइन अवधि पूरा करने के बाद कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं |

इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से 14 दिन की क्वारेंटाइन अवधि पूरी करने के बाद 10 दिन का होम आइसोलेशन जरूर करें। भास्कर भी आमजनों से अपील करता है कि यदि वे  अन्य राज्य या शहर से लौटे हैं तो 14 दिन क्वारेंटाइन अवधि के साथ ही होम आइसोलेशन पर रहें, ताकि संक्रमण के खतरे को रोका जा सके।

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए  – 

हमारे   FACEBOOK  पेज को   LIKE   करें

सिटी न्यूज़ के   Whatsapp   ग्रुप से जुड़ें

हमारे  YOUTUBE  चैनल को  subscribe  करें

Source link