IT अधिकारियों पर सूर्यकांत तिवारी ने लगाया बडा आरोप : छत्तीसगढ़ के कांग्रेस सरकार गिराने और मुझे मुख्यमंत्री बनने का दिया गया ऑफर….

437

सिटी न्यूज रायपुर : हालिया दिनों छत्तीसगढ़ में इनकम टैक्स के सर्वे जिसे कि छापा कहा गया उसके केंद्र में रहे सूर्यकांत तिवारी का वीडियो वायरल है। यह वीडियो क़रीब 9 मिनट का है जिसमें सुर्यकांत बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह के पंद्रह वर्षीय कार्यकाल में नीतिगत और व्यवस्था गत असफलताओं की वजह से हुई घटनाओं का सिलसिलेवार ब्योरा दे रहे हैं जो तत्कालीन समयमें कांग्रेस के लिए मुफ़ीद राजनैतिक मुद्दे बने थे। सूर्यकांत तिवारी इन बातों को कहते हुए यह जोड़ रहे हैं कि, यदि वे जेल गए तो बग़ल वाली बैरक में डॉ रमन सिंह को भी इन सारे मसलों की वजह रहना होगा। सूर्यकांत तिवारी वायरल वीडियो में इंकम टैक्स पर गंभीर आरोप लगाते हुए कह रहे हैं कि, उन्हें इंकम टैक्स ने शारीरिक और मानसिक रुप से प्रताड़ित किया।सूर्यकांत तिवारी इस वीडियो में यह दावा भी कर रहे हैं कि इंकम टैक्स अधिकारियों ने मुख्यमंत्री बघेल की उप सचिव सौम्या चौरसिया का नाम लेने, उनके विरुद्ध बयान देने दबाव बनाया लेकिन सौम्या चौरसिया का मेरे किसी व्यवसाय से संबंध नहीं है तो मैंने नाम नहीं लिया।सूर्यकांत तिवारी ने इस वीडियो में यह कहा है कि, यदि उसके साथ कोई अप्रिय घटना होती है तो जवाबदेह बीजेपी के नेता और आयकर विभाग होगा।सूर्यकांत का यह भी दावा है कि उन्हें प्रताड़ित किया गया और वे कोर्ट जाएँगे।

नौ मिनट का वीडियो, और क़रीब छ मिनट डॉ रमन पर..

सूर्यकांत तिवारी का वायरल वीडियो क़रीब 9मिनट का है।इस वीडियो में क़रीब छ मिनट उन्होंने डॉ रमन सिंह पर खर्च किए हैं। सूर्यकांत ने कहा है…

“यह मीडिया के माध्यम से पता चला है कि आदरणीय डॉ रमन सिंह जी ने मेरे घर हुए आयकर raid के आधार पर मुझे गिरफ्तार किए जाने की मांग की है। डॉ रमन सिंह जी,आप यदि मुझे अपराधी घोषित करके जेल में डलवाना चाहते हैं तो मुझे स्वीकार है लेकिन जेल के जिस सेल में मैं रहूंगा उसके ठीक बाजू वाले सेल में आपको भी रहना होगा क्योंकि आपका कार्यकाल भी कोई बेदाग नहीं रहा है। आपके कार्यकाल में आपके मंत्रियों पर जमीन की भारी मात्रा में अफरातफरी के आरोप लगे थे। उसके लिए आपको भी जेल जाना चाहिए। आपके पुत्र अभिषेक सिंह के नाम से पनामा पेपर्स रँगे हुए थे। टैक्स हेवन देशों में बैंक खाते खोलकर अपनी काली कमाई छिपाने के आरोप लगे थे। आपकी ज़िम्मेदारी भी आपको स्वीकार करके जेल जाना चाहिए”

सूर्यकांत तिवारी के अनुसार आईटी सौम्या का नाम लेने दबाव दे रही थी…

सूर्यकांत तिवारी वायरल वीडियो में यह दावा करते दिख रहे हैं कि,आयकर टीम उन पर मुख्यमंत्री बघेल की उप सचिव सौम्या चौरसिया का नाम लेने, अपने व्यवसाय में उनका नाम जोड़ने, उनके ख़िलाफ़ बयान देने का दबाव बना रही थी।लेकिन सौम्या चौरसिया का मेरे व्यवसाय से कोई संबंध नहीं है, पारिवारिक संबंध है उनसे बीच में टेलीफोन पर बातें होती हैं। सूर्यकांत आईटी टीम पर मारपीट का भी आरोप लगा रहे हैं। सूर्यकांत ने कहा…

“20 जून को आयकर विभाग ने हमारे यहां छापा मारा, आयकर की छापामार टीम ने हमारे घर पर छापा बोला, हमारे घर के लोगों को भयभीत किया, आयकर की टीम को अधिकार नहीं होता कि वो सर्च एवं सर्वे की कार्यवाही के दौरान किसी से मारपीट करे लेकिन मुझे आयकर टीम द्वारा आयकर टीम द्वारा मारपीट की गई। 3 दिन तक मुझे सोने नही दिया गया। मुझे बहुत प्रकार से मानसिक और शारीरिक टार्चर किया गया।”

आईटी छत्तीसगढ़ में सूर्यकांत को एकनाथ शिंदे बनाना चाहती थी ?

सूर्यकांत तिवारी के वायरल वीडियो में यह दावा है कि आयकर विभाग के अधिकारी उसे प्रदेश में सत्ता परिवर्तन कर एकनाथ शिंदे बनाने का प्रस्ताव दे रहे थे।यह दावा करते हुए सूर्यकांत ने फिर कहा है कि ऐसा करने के लिए सौम्या चौरसिया का नाम आयकर अधिकारी जुड़वाना चाहते थे। सूर्यकांत ने कहा…“आयकर विभाग वाले किसी भी तरह से मुझे साम-दाम-दंड-भेद से यही कहलवाना चाहते थे, इसलिए उन्होंने मुझे प्रदेश में सत्ता परिवर्तन करके मुख्यमंत्री बनने तक का प्रस्ताव दिया। मुझे आयकर की टीम के अफसरों ने ये भी अकेले में कहा कि प्रदेश के 40 से 45 विधायकों से मेरे बहुत अच्छे सम्बन्ध हैं, उनके एक सूची बना लू, अभी उन विधायको के सहयोग से सत्ता पलट हो जाएगी और आपको छत्तीसगढ़ में एकनाथ शिंदे बना देंगे। इसके लिए मुझे अपने व्यवसाय से श्रीमती सौम्या चौरसिया का नाम जोड़कर बयान देने कहा गया, जिससे मैंने साफ इंकार कर दिया, जिसके कारण हमें आयकर वालो ने इतना टार्चर किया। मेरे साथ आयकर विभाग के लोगों में जो भी किया है, जितना भी मुझे टार्चर किया है मुझ पर अमानवीय दबाव डालकर, जो भी झूठे बयान दिलवाने का प्रयास किया गया है, उसके विरुद्ध मैं न्यायालय की शरण में जाने वाला हूँ”

यदि मुझे और मेरे परिवार को कुछ होता है तो जवाबदेह आईटी और प्रदेश बीजेपी के वे नेता जवाबदेह ..!

नौ मिनट 21 सेकंड के आख़िरी आख़िरी में सूर्यकांत तिवारी यह कहते दिखाई देते हैं कि यदि उनके साथ कुछ हुआ तो जवाबदेह आयकर विभाग और राज्य बीजेपी के वे नेता होंगे, जो राज्य में सत्ता परिवर्तन के लिए बलि का बकरा बनाना चाहते हैं।सूर्यकांत कह रहे हैं कि वे व्यापारी हैं अपराधी नहीं। सूर्यकांत ने कहा “आयकर द्वारा जो सर्च और सर्वे किया गया उसमे अगर कोई भी संपत्ति प्रश्नाधीन होती है या कही टैक्स संबंधी कोई बात आती है, तो उसके निराकरण की एक निर्धारित व्यवस्था है। यदि हमारे प्रतिष्ठानों पर कोई टैक्स दायित्व निकलेगा तो उसे हम चुका देंगे। हम व्यापारी हैं कोई अपराधी नही है”

द सूत्र….