9 अगस्त से हर विधानसभा में 75 किमी पैदल चलेंगे कांग्रेसी; गांवों में करना होगा रात्रि विश्राम

283

रायपुर,  छत्तीसगढ़ में कांग्रेस नौ अगस्त से पदयात्रा शुरू करने जा रही है। यह पदयात्रा राज्य के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों में होगी। इस दौरान हर विधानसभा क्षेत्र के एक कोने से दूसरे कोने तक यात्री की जाएगी। प्रदेश कार्यकारिणी की शनिवार को हुई मासिक बैठक में इस पर विस्तार से चर्चा की गई।

प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि यात्रा के दौरान स्वतंत्रता संग्राम की निशानियों का स्मरण, सेनानियों के परिजनों से मुलाकात भी होनी चाहिए। सभी विधानसभा में 75 किलोमीटर अनिवार्य यात्रा होनी चाहिए। हर बूथ तक यात्रा पहुंचे। महंगाई, बेरोजगारी के खिलाफ यात्रा में जनजागरण करना चाहिए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पदयात्रा के समापन में बड़ी सभा हो। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय राहुल गांधी के संदेश सरकार के कार्यक्रमों का पाम्पलेट वितरण करें।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि हर दिन यात्रा में कम से कम 200 लोग तिरंगा झंडा लेकर चलेंगे। सुबह प्रभात फेरी निकाली जाएगी और श्रमदान करेंगे। हर दिन अलग-अलग लोग नेतृत्व करें। यात्रा ग्रामीण बस्ती में रात्रि विश्राम करें। जनसंवाद हो, सभी यात्री गांधी टोपी पहने। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में पदाधिकारियों की जितनी भूमिका होगी, उससे कहीं अधिक महत्वपूर्ण भूमिका कार्यकर्ता निभाएंगे। बैठक में प्रभारी सचिवद्वय डा. चंदन यादव, सप्तगिरी शंकर उल्का, प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल, प्रदेश उपाध्यक्ष गुरुमुख सिंह होरा सहित अन्य शामिल थे।

हर घर तिरंगा अभियान में शामिल होगी कांग्रेस

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि आजादी की लड़ाई कांग्रेस ने शुरू की। हमें तिरंगा कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना है। उन्होंने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जिसका तिरंगा से कुछ लेना देना नहीं, वे तिरंगा के नाम पर पाखंड कर रहे हैं। हमने तिरंगा को पहले अंगीकार किया। 15 को प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम चलेगा। सभी पदाधिकारी अनिवार्य रूप से पदयात्रा में शामिल हो।