सीएम बघेल के आरोपों का रमन सिंह ने दिया जवाब, बोले- हेरफेर साबित करके दिखाएं, मैं संन्यास ले लूंगा

367

रायपुर, नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ के विरोध में कांग्रेस के प्रदर्शन और मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा लगाए आरोपों पर भाजपा के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री डा रमन सिंह ने पलटवार करते हुए कहा, भूपेशजी, जोर-जोर से चिल्लाने से, बात को डायवर्ट करने से आपके कोयला घोटाले, अवैध शराब की कमाई के पाप छिप नहीं जाएंगे। आपने मुझ पर औऱ मेरे परिवार पर जो भी झूठे आरोप लगाए हैं, उसमें एक रुपए का भी हेरफेर साबित करके दिखाएं, मैं डा रमन सार्वजनिक जीवन से संन्‍यास ले लूंगा। लेकिन तैयार आप भी रहिए।

पूर्व मुख्‍यमंत्री रमन सिंह ने कहा, आश्‍चर्य होता है कि कानून से ऊपर से कोई हो सकता है क्‍या? सोनिया गांधी हो या राहुल गांधी, किसी ने भी अपराध किया है तो पूछताछ होगी। प्रदर्शन के दौरान भूपेश बघेल के आरोपों का जवाब देते हुए रमन सिंह ने कहा, अगस्‍ता और पनामा घोटाले में टीएस सिंहदेव के साथ आप सुप्रीम कोर्ट गए थे, लेकिन वहां याचिका निरस्‍त कर दी गई। जहां तक नागरिक आपूर्ति घोटाले की बात है तो जिस ईडी का आप आज विरोध कर रहे हैं, अनिल टुटेजा और आलोक शुक्‍ला के खिलाफ उसी ईडी से जांच के लिए आपने पत्र लिखा था। चिटफंड मामले को लेकर रमन सिंह ने मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल पर जमकर निशाना साधा। इसके साथ ही उपसचिव के घर इनकम टैक्‍स की छापेमारी को लेकर भी पूर्व मुख्‍यमंत्री ने सीएम भूपेश बघेल से जवाब मांगा है।

नान घोटाला, पनामा मामले से साधा निशाना

बतादें कि ईडी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश ने भाजपा और पूर्व मुख्‍यमंत्री डा रमन सिंह पर निशाना साधते हुए कहा, मैं कहता हूं कि मनी लॉन्ड्रिंग हो रही है तो कार्रवाई करो, लेकिन पनामा पेपर लीक मामले में डा. रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह व पत्नी वीणा सिंह का नाम आया। इनके परिवार ने चिटफंड कंपनियों से छह हजार करोड़ रुपये छत्तीसगढ़ की जनता के लुटवा दिए। नान घोटाला हुआ। ईडी जांच कर रही है, लेकिन सीएम मैडम और सीएम सर कौन था, इसका राजफाश अब तक नहीं किया।