रायपुर से बडी खबर : हडतालियों की नौकरी समाप्त कर दीगर लोगों को काम में रखने की चेतावनी और प्रशासनिक सख्ती के बाद दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों की हड़ताल अब दो माह के लिए स्थगित !! अधिकारियों ने नियमितीकरण समेत 5 सूत्रीय मांग को पूरी करने का दिया आश्वासन …

348

रायपुर, प्रशासनिक सख्ती के बाद वन विभाग के दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों की हड़ताल आखिरकार अब दो माह के लिए स्थगित हो गई है। सीसीएफ रायपुर जे आर नायक की मध्यस्थता के बाद कर्मचारियों ने हड़ताल स्थगित करने का ऐलान किया है। अधिकारियों ने नियमितीकरण समेत 5 सूत्रीय मांग को पूरी करने का आश्वासन दिया है। अब सभी कर्मचारी कल से अपने काम पर लौटेंगे।बता दें राज्य शासन के निर्देश पर वन विभाग ने कल नोटिस जारी कर 22 सितंबर को शाम तक आंदोलन खत्म कर कर्मचारियों को कार्य में उपस्थित होने कहा था अन्यथा नौकरी समाप्त कर दीगर लोगों को काम में रखने की चेतावनी दी थी। इसके बाद आज दोपहर आंदोलन स्थगित कर दिया गया।

वन विभागीय दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष कमल नारायण साहू, महामंत्री रामकुमार सिन्हा एवं विजय कुमार झा संरक्षक प्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ ने बताया है कि छत्तीसगढ़ वन विभागीय  दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों की 5 सूत्रीय मांगों के लिए 20 अगस्त से जारी अनिश्चितकालीन आंदोलन के 34 वें  दिन बूढ़ा तालाब धरना स्थल पर पुलिस एवं जिला प्रशासन के अधिकारी तथा वन विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति में शासन द्वारा समय मांगे जाने पर आंदोलन 2 महीने के लिए सशर्त स्थगित किया गया है। यदि मांग पूरी नहीं होगी तो दो महीने बाद पुनः अनिश्चितकालीन आंदोलन किया जावेगा। 

वन विभागीय दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष कमल नारायण साहू, महामंत्री रामकुमार सिन्हा एवं विजय कुमार झा संरक्षक प्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ ने बताया है कि मुख्य वन संरक्षक रायपुर क्षेत्र जे आर नायक, अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी एंन आर साहू, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर, डीसी पटेल आज दोपहर बूढ़ा तालाब धरना स्थल पर पहुंचे। उन्होने वन विभाग का कार्य प्रभावित होने व नियमितीकरण की मांग को शासन के समक्ष अग्रेषित करने का आश्वासन मंच पर घोषित किया गया। साथ ही वन विभाग में लगातार कार्य प्रभावित हो रहे हैं। इसलिए 2 माह के समय सीमा में मांगों पर शासन सहानुभूति पूर्वक विचार करेगी। राज्य शासन सेवा समाप्ति के आदेश, हड़ताल अवधि के अवकाश स्वीकृति तथा नियमितीकरण व स्थायीकरण की मांगों के संबंध में देर रात्रि प्रधान मुख्य वन संरक्षक राकेश चतुर्वेदी के कार्यालय नवा रायपुर में पदाधिकारी डटे रहे।

संघ ने आंदोलन के दौरान दिवंगत कर्मचारियों के आश्रितों को मुआवजा देने व सेवा समाप्ति के आदेश को वापस लेकर सीधे हड़ताली कर्मचारियों के सेवा में जॉइनिंग कराने का निर्णय वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने लिया है। संध्या आंदोलन के दौरान दिवंगत साथियों को महाआरती कर विनम्र श्रद्धांजलि भी अर्पित की गई।

आंदोलन का नेतृत्व बूढ़ातालाब धरना स्थल पर उपाध्यक्ष अरविंद वर्मा, राजकुमार चौहान, कोषाध्यक्ष प्रीतम निषाद नरेश पटेल, शुभम जयसवाल, रोहित पटेल, गिरधर जैन,आकाश, हारूनदास मानिकपुरी, बिंदेश्वरी देवी, काशीराम देवांगन एवं काशीराम ध्रुव सहित समस्त जिला तहसील के वन विभागीय दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के नेतृत्व में 34 दिन तक सफल आंदोलन संचालित किया गया। संघ ने जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, वन विभाग के अधिकारियों मुख्यमंत्री, वन मंत्री व मीडिया के साथियों के प्रति आभार व्यक्त किया है।