मोर महापौर-मोर द्वार’ में बवाल, बुलानी पड़ी पुलिस, पार्षद पर नल कनेक्शन के नाम पर दस-दस हजार वसूलने का आरोप

540

रायपुर,  शहर के पुरानी बस्ती इलाके के वामन राव लाखे वार्ड क्रमांक 66 में शुक्रवार दोपहर के समय लगाए गए मोर महापौर, मोर द्वार शिविर में जमकर बवाल हुआ। वार्ड के रहवासियों ने भाजयुमो कार्यकर्ताओं के साथ शिविर में पहुंचकर प्रोफेसर कालोनी समेत पूरे वार्ड में साफ-सफाई ठीक नहीं होने, चारों तरफ गंदगी फैले होने, नाली की जाली हटवाने, वार्ड पार्षद का अता-पता नहीं चलने जलभराव की समस्या के साथ विकास कार्यों में भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की।

स्थिति बिगड़ते देखकर शिविर स्थल पर अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाना पड़ा। करीब पंद्रह मिनट तक हंगामा चलता रहा। महापौर और वार्ड पार्षद के खिलाफ नारेबाजी कर रहे लोगों को पुलिस बल ने हटाने की कोशिश की तो धक्का-मुक्की शुरू हो गई।

समझाने के बाद हंगामा कर रहे लोग शांत हुए। रहवासियों ने वार्ड पार्षद पर नल कनेक्शन लगाने के नाम पर दस-दस हजार रुपये वसूलने, रसीद नहीं देने के साथ नल कनेक्शन न लगाने के गंभीर आरोप लगाए। हालांकि वार्ड पार्षद मन्नाू विजेता यादव ने नल कनेक्शन के नाम पर पैसे लेकर रसीद नहीं देने और कनेक्शन न लगाने के आरोपों को एक सिरे से खारिज कर दिया। वार्ड में सफाई ठीक न होने की मौखिक शिकायत लेकर भाजयुमो के प्रशांत शर्मा के साथ कुछ कार्यकर्ता शिविर स्थल पर आकर हंगामा, नारेबाजी कर रहे थे। हंगामा बढ़ने से व्यवधान उत्पन्ना होने पर पुलिस बल को बुलाना पड़ा। बाद में सभी वापस लौट गए। नल कनेक्शन को लेकर कोई शिकायत मेरे सामने नहीं आई है।