बडी खबर : संगठन मंत्री ने भाजपा नेताओं से पूछा – पिछला चुनाव हार कैसे गए… ?

281

रायपुर, भाजपा के क्षेत्रीय संगठन मंत्री अजय जामवाल ने अपने पहले ही दौरे में प्रदेश नेतृत्व की दुखती रग पर हाथ रख दिया। नेताओं के साथ बैठक में जामवाल ने पूछा कि 15 साल सरकार चलाने के बाद हार कैसे हो गई। वहां मौजूद नेताओं ने इसके लिए कार्यकर्ताओं में उत्साह की कमी को जिम्मेदार बताया।

राजधानी रायपुर में प्रदेश भाजपा के मुख्यालय कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में बुधवार को दिन भर बैठकों का दौर चलता रहा। प्रदेश पदाधिकारी, कोर ग्रुप, संभाग और जिला प्रभारियों के अलावा मीडिया विभाग और आईटी सेल के साथ क्षेत्रीय संगठन मंत्री की अलग-अलग बैठकें हुईं। पहला दौरा था इसलिए अधिकतर बातें परिचयात्मक रहीं। पदाधिकारियों ने संगठन की ताकत और कमजोरियों की जानकारी दी। उसके साथ उन मुद्दों की भी सामान्य चर्चा हुई जिसे लेकर पार्टी मौजूदा सरकार के खिलाफ हमलावर है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने बताया, “यह क्षेत्रीय संगठन मंत्री का पहला प्रयास है। ऐसे में बैठकें परिचयात्मक ही रहीं। पदाधिकारियाें और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर परिचय प्राप्त कर रहे हैं। पार्टी को मजबूत करने के लिए थोड़ा-बहुत समझाइश भी दे रहे हैं।’ बताया जा रहा है कि क्षेत्रीय संगठन मंत्री ने सब कुछ भुलाकर 2023 के चुनाव पर ध्यान केंद्रित करने को कह दिया है। माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में भाजपा संगठन के स्तर पर अधिक आक्रामक अभियान शुरू करेगी।

पार्टी क्षेत्रीय संगठन मंत्री अजय जामवाल को आगामी चुनाव के लिए तुरुप का ईक्का मानकर चल रही है। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि, अजय जामवाल संगठन शिल्पी हैं। उन्होंने पंजाब, चंडीगढ़, जम्मू-कश्मीर और नार्थ-ईस्ट में काम किया है। नार्थ-ईस्ट में अगर भाजपा का परचम लहरा रहा है तो इनका बहुत बड़ा योगदान है। ये जहां भी जाते हैं वहां भाजपा की सरकार भी बनती है। उनकी मौजूदगी से भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार होगा। 2023 में यहां भाजपा की सरकार बना पाएंगे। विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा, नार्थ-ईस्ट जैसे दुरुह और चरमपंथियों के क्षेत्र में उन्होंने जब कमल का झंडा फहराया है तो छत्तीसगढ़ तो भाजपा का जनाधार वाला क्षेत्र है।