Home Politics news नदियों के तट पर लगाए गए 15 लाख पौधे;बाढ से अधिकांश पौधे...

नदियों के तट पर लगाए गए 15 लाख पौधे;बाढ से अधिकांश पौधे बह-सड गए

238

रायपुर, छत्तीसगढ़ में चालू वर्षा ऋतु 2022 के दौरान ‘नदी तट वृक्षारोपण’ कार्यक्रम के तहत 26 विभिन्न नदियों के तट पर लगभग 15 लाख 41 हजार पौधों का रोपण किया गया है। लेकिन बाढ से पौधे बह गए अथ्वा सड गए। नदी तट के 01 हजार 400 हेक्टेयर रकबे में फल-फूल के पौधों लगाए गए थे।

वन विभाग द्वारा नदी तट रोपण का कार्य कैम्पा तथा विभागीय मद सहित नदी तट वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत किया गया है। नदी तट रोपण कार्यक्रम के तहत चालू वर्ष के दौरान शामिल नदियों में शिवनाथ, फुलकदेई, केंदई, लीलागर नदी, महानदी, हसदेव, आगर, रेड नदी, मेघानाला, झींका नदी, मोरन, सोंढूर, बांकी नदी, गलफुला, हसदो नदी, नेउर नदी, केवई, खटम्बर, भैसुन, चूंदी, भवई नदी, बनास नदी, रांपा नदी तथा भुलू नदी आदि शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक एक जून 2022 से अब तक राज्य में 1301.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। बस्तर इलाके में इस दौरान कई दफे नदी-नालों में बाढ आ चुकी है। राज्य के अन्य इलाकों में भी कमिबेश यही स्थिति है। ऐसी हालत में पौधे बाढ में बह गए अथवा सड गए।

प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख संजय शुक्ला ने बताया कि बिलासपुर वृत्त अंतर्गत बिलासपुर, मरवाही, कोरबा, धरमजयगढ़ तथा जांजगीर-चांपा वन मंडल स्थित 8 नदियों के 263 हेक्टेयर रकबा में 2 लाख 89 हजार पौधों का रोपण किया गया है। इसी तरह कांकेर वृत्त अंतर्गत 4 नदियों के 19 हेक्टेयर रकबा में 20 हजार 595 पौधे तथा रायपुर वृत्त अंतर्गत 2 नदियों के 29 हेक्टेयर रकबा में 31 हजार 900 पौधों का रोपण किया गया है। इसके अलावा सरगुजा वृत्त अंतर्गत सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया तथा मनेन्द्रगढ़ वन मंडल स्थित 12 नदियों के 1 हजार 76 हेक्टेयर रकबा में 11 लाख 84 हजार पौधों का रोपण किया गया है।