छत्तीसगढ़ में भाजपा कर सकती है 90 के 90 सीट में परिवर्तन ,15 साल अपनी सरकार में उपेक्षा का दंश झेलने वाले कार्यकर्ताओं में उत्साह…।

814

रायपुर : सूत्रों की मानें तो इस बार छत्तीसगढ़ के भाजपा कार्यकर्ताओं का भला होने वाला है बीजेपी इस बार मठाधीशों को ठिकाने लगाने वाली है 90 के 90 सीट में इस बार नए कार्यकर्ता को मौका देने वाली है, पुराने भाजपा के कार्यकाल से ही कार्यकर्ता  नाराज है ,क्योंकि तीन बार बीजेपी की सरकार बनी वही वही नेता मंत्री ,निगम मंडल में रहे । बड़े नेताओं ने आपस मे कार्कस बना कर 15 साल जमीनी कार्यकर्ता को दरकिनार करने के चलते पार्टी सत्ता से हाथ धो बैठी , 15 साल सत्ता सुख भोगने के बाद अभी भी यही नेता टिकट चाहते है , टिकट नही मिली तो ये नेता बगावत भी करेंगे, अभी से बड़े नेताओं की परिक्रमा इनकी शुरू हो गई है जिनकी खुद के टिकट का ठिकाना नही है वो दूसरे को टिकट बांट रहे है , कार्यकर्ताओं का कहना है कि अगर पार्टी 90 सीट पर नए प्रत्यशी लाती है तो हर कार्यकर्ता काम करेगा और बीजेपी की सरकार बनेगी लेकिन अगर पुराने नेताओ को ही टिकट मिली तो कार्यकर्ता घर बैठ जाएगा। इस समय सुनने को मिल रहा है कि 90 सीट पर नए नये नाम आएंगे ये सुनकर ही कार्यकर्ता खुश है ,  कुछ नेता है जिन्होंने केवल मलाई खाई और कार्यकर्ताओं से बदतमीजी की अब यही लोग फिर दिखेंगे तो पार्टी का बंटाधार तय है ,। इन बड़े मठाधीश नेताओं ने अपना अपना क्षेत्र बांट लिया है जंहा संगठन इनके पैरों तले है ।  ये जिल्रे में अपने कर्मचारी को पार्टी की सदस्यता दिला कर उसको पदाधिकारी बना देते है और संगठन इनकी चौखट पर रहता है। ये घाघ नेता अपनी सेटिंग्स से जिल्रे के नेताओ को प्रभारी बनाते है और अपने चहेते को टिकट से लेकर सभी तरह की रेवड़ी बाँट देते है ,, गैर छत्तीसगढ़िया को टिकट देकर बार बार मंत्री बना दिया जिससे कार्यकर्ता नाराज हुआ ऐसा कार्यकर्ताओं का कहना है, खैर अभी छत्तीसगढ़िया भावना को समझना होगा, संगठन में बडा फेरबदल इसका छोटा उदाहरण हैं कि अजीत जोगी जैसे कलेक्टर रह चुके छत्तीसगढ़िया नेता ओ पी चौधरी  सहित सभी छत्तीसगढ़िया दिग्गजों को जिम्मेदार पदों से नवाजकर छत्तीसगढ़ महतारी का सम्मान किया है , ये संकेत आगामी चुनाव के लिए अंदाज लगाने वालों के लिए पर्याप्त है,   बहरहाल कार्यकर्ता 90 सीट में परिवर्तन की खबर से खुश है।