गुजरात में बजा चुनावी बिगुल : चुनाव 1 और 5 दिसंबर को; हिमाचल के साथ 8 को आएंगे नतीजे…

234

नई दिल्ली, चुनाव आयोग ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गुजरात विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया है। राज्य में दो चरणों में चुनाव कराए जाएंगे और नतीजे 8 दिसंबर को हिमाचल प्रदेश चुनाव के साथ ही घोषित होंगे। पहले चरण की वोटिंग एक दिसंबर को और दूसरे चरण की वोटिंग 5 दिसंबर को होगी। पहले चरण के लिए अधिसूचना 5 नवंबर को और दूसरे चरण के लिए अधिसूचना 10 नवंबर को जारी की जाएगी।

चुनाव आयोग ने बताया है कि गुजरात में 18 फरवरी 2023 को विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल खत्म हो रहा है। इस बार 4 करोड़ 90 लाख 89 हजार 765 लोग अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इनमें 2 करोड़ 53 लाख से ज्यादा पुरुष मतदाता और 2 करोड़ 37 लाख से ज्यादा महिला मतदाता हैं। इस बार कुल पोलिंग स्टेशन 51 हजार 782 होंगे।

चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि गुजरात में इस बार 4.9 करोड़ मतदाता मतदान करेंगे। 51782 मतदान केंद्र पर मतदान होगा। 142 मॉडल मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। दिव्यांगों के लिए 182 विशेष पोलिंग स्टेशन बनाया जाएगा। महिलाओं के लिए 1274 पोलिंग स्टेशन होंगे|

चुनाव का कार्यक्रम तारीख

पहला चरण                           1 दिसंबर

दूसरा चरण                           5 दिसंबर

पहले चरण के लिए अधिसूचना 5 नवंबर

दूसरे चरण के लिए अधिसूचना 10 नवंबर

कुल पोलिंग स्टेशन 51 हजार 782

नतीजे                                 8 दिसंबर

3.2 लाख नए मतदाता: चुनाव आयुक्त

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि गुजरात विधानसभा चुनाव में 3,24,422 नए मतदाता इस बार पहली बार मतदान करेंगे। कुल मतदान केंद्र की संख्या 51,782 है। राज्य में स्थापित मतदान स्थलों में से कम से कम 50प्रतिशत मतदान केंद्र पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था होगी। चुनाव आयोग के मुताबिक, 142 मॉडल पोलिंग स्टेशन. 1274 पोलिंग स्टेशन ऐसे होंगे, जिनमें सिर्फ महिलाओं की तैनाती की जाएगी।

शिपिंग कंटेनर को भी पोलिंग स्टेशन बनाया जाएगा

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि इस बार 33 पोलिंग स्टेशन ऐसे होंगे जो युवा पोलिंग टीम द्वारा संचालित किए जाएंगे, ये युवाओं को मतदान के लिए प्रेरित करेगा। इस बार शिपिंग कंटेनर को भी पोलिंग स्टेशन बनाया गया है। पहली बार शिपिंग कन्टेनर भी पोलिंग स्टेशन के रूप में काम करेगा। गिर फॉरेस्ट के लिए एक पोलिंग स्टेशन होगा जहां एक ही वोटर है। पोस्टल वोट के लिए चुनाव आयोग के प्रतिनिधि जाएंगे। गिर फॉरेस्ट के लिए एक पोलिंग स्टेशन होगा जहां एक ही वोटर है|

ऐसे मिलेगी उम्मीदवार की आपराधिक जानकारी मिलेगी

चुनाव आयुक्त के मुताबिक कोई भी नागरिक अगर अपने उम्मीदवार के बारे में जानना चाहता है वो निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर KYC ऑप्शन में देख सकते हैं। इसके जरिए उम्मीदवार की आपराधिक जानकारी भी मिल जाएगी। चुनावी व्यय पर विभिन्न राज्य और केंद्रीय एजेंसियां नजर रखेंगी। निगरानी करेंगी और कार्रवाई भी होगी।

मोबाइल एप के जरिए कोई भी नागरिक कर सकता है शिकायत

चुनाव आयोग ने कहा है कि CVigil मोबाइल एप के जरिए कोई भी नागरिक निर्वाचन आयोग को शिकायत कर सकता है किसी भी गड़बड़ी को लेकर, 100 मिनट में रिजल्ट मिलेगा।

थर्ड जेंडर के एनरोलमेंट के लिए स्पेशल कैंप

चुनाव आयोग ने कहा कि तीसरे जेंडर के वोट करने के लिए भी आयोग कदम उठा रहा है। थर्ड जेंडर के एनरोलमेंट के लिए स्पेशल कैम्प लगाए जा रहे हैं।

वरिष्ठ नागरिकों को घर से वोट करने की सुविधा होगी

  • वरिष्ठ नागरिकों को घर से वोट करने की सुविधा होगी।
  • सुगम पोलिंग स्टेशन होंगे।
  • उनकी सहायता वोलेंटिंयर्स करेंगे।
  • वरिष्ठ नागरिकों को वरीयता दी जाएगी।
  •  दिव्यांगों के लिए भी पोस्टल बैलेट का विकल्प रहेगा। हिमाचल प्रदेश के साथ होगी गुजरात चुनाव की मतगणना

चुनाव आयोग ने हिमाचल प्रदेश के लिए मतगणना की तारीख को मतदान के करीब एक महीने बाद रखते हुए स्पष्ट संकेत दिया था कि गुजरात के लिए भी वोटों की गिनती 8 दिसंबर को होगी। 2017 में भी दोनों राज्यों में अलग-अलग तारीखों पर चुनाव की घोषणा की गई थी, लेकिन मतगणना 18 दिसंबर को एक साथ हुई थी।

गुजरात में 182 सीटों के लिए चुनाव

गुजरात में विधानसभा (Gujarat Assembly) की कुल 182 सीटें हैं। इनमें 40 सीटें आरक्षित हैं। 13 सीटें अनुसूचित जाति (SC) के लिए और 27 सीटें अनुसूचित जनजाति (ST) व आदिवासी समाज के लिए सुरक्षित हैं। 2017 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को 99, कांग्रेस को 77 सीटें मिलीं थी। दो सीटें भारतीय ट्राइबल पार्टी , एक सीट एनसीपी को मिली थी, बाकी तीन सीटों में निर्दलीय जीते थे। गुजरात में लंबे समय से चुनावों में भाजपा और कांग्रेस के बीच मुकाबला हो रहा है, लेकिन इस बार विधानसभा चुनावों के लिए आम आदमी पार्टी (Aam aadmi Party) भी मैदान में जोर अजमाइश कर रही है।

18 फरवरी को समाप्त होगा गुजरात विधानसभा का कार्यकाल

चुनाव आयोग की वेबसाइट के अनुसार, गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव 1998, 2007 और 2012 में एक साथ हुए थे। आपको बता दें कि 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा का कार्यकाल 18 फरवरी, 2023 को समाप्त हो रहा है।

गुजरात में इस बार त्रिकोणीय मुकाबले की उम्मीद

गुजरात विधानसभा की सभी 182 सीटों के लिए चुनाव दिसंबर में होने हैं और राज्य में इस बार भाजपा, विपक्षी कांग्रेस और अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 99 सीट जीती थीं, जबकि कांग्रेस को 77 सीट मिली थीं।

BJP की बड़ी बैठक

गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान से पहले गांधीनगर में भाजपा के संसदीय बोर्ड की अहम बैठक हो रही है। इसमें गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद हैं। गांधीनगर के भाजपा ऑफिस कमलम में अभी हो रही बैठक में गृहमंत्री अमित शाह के आलावा गुजरात कोर ग्रुप के सभी नेता और केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडविया और पुरुषोत्तम रुपाला भी शामिल हैं। बैठक में गुजरात के सभी 182 सीटों से मिले कार्यकर्ताओं के फीडबैक पर मंथन होगी।

आम आदमी पार्टी 108 उम्मीदवारों का कर चुकी ऐलान

आम आदमी पार्टी गुजरात विधानसभा चुनावों के लिए 108 उम्मीदवारों का ऐलान कर चुकी है। आप एकमात्र पार्टी है, जिसने गुजरात में गुजरात चुनावों के मद्देनजर 100 से ज्यादा उम्मीदवारों की घोषणा की है। वहीं भाजपा और कांग्रेस अपने उम्मीदवारों के चयन को लेकर लगातार मंथन कर रहे हैं।