कांग्रेस पार्टी के बैठक में मुख्यमंत्री भुपेश बघेल को गुस्सा क्यों आया :

442

रायपुर, प्रदेश कांग्रेस की कार्य समिति की बैठक में संगठन को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नाराजगी का सामना करना पड़ा। मुख्यमंत्री संगठन के कामकाज को लेकर असंतुष्ट नजर आए। समन्वय समिति की बैठकों में होने वाले फैसलों पर अमल नहीं होने पर उन्होंने गहरी नराजगी जाहिर की। नाराज बघेल ने यहां तक कह दिया कि ऐसा रहा तो बैठक में ही नहीं आऊंगा। पार्टी सूत्रों के अनुसार बैठक की शुरुआत में प्रदेश प्रभारी पुनिया ने प्रश्न किया कि बैठक के लिए 30 जून का समय तय किया गया था तो आज क्यों हो रही है। इस पर उत्तर आया कि 30 जून को मुख्यमंत्री उपलब्ध नहीं थे। कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल ने जिलों में होने वाली बैठकों को लेकर प्रश्न उठाया।

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के अध्यक्ष को अब तक क्यों नहीं हटाया

वहीं, मुख्यमंत्री ने नाराजगी भरे लहजे में पूछा कि गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के अध्यक्ष को अब तक क्यों नहीं हटया गया, क्या सीएम ने कहा है। इसके बाद उन्होंने बूथ अध्यक्ष व कमेटियों की सूची नहीं देने को लेकर भी प्रश्न किया। बघेल ने कहा कि बैठक में यह तय किया गया था कि बूथ अध्यक्ष व कमेटियों की सूची विनोद वर्मा को दी जाएगी। इसके बाद भी नहीं दी गई। बीआरओ की सूची तैयार है तो संगठन ने जारी क्यों नहीं की। समन्वय समिति की बैठक में पहले जो फैसले लिए गए थे उसे अनुमोदन के लिए एआइसीसी को नहीं भेजे जाने पर भी बघेल ने नाराजगी जाहिर की।

श्रम अधिकारियों पर भड़के जुनेजा, बोले-20 मिनट के काम के लिए महीनों चक्कर लगवाते हैं

जिस काम के लिए लोग महीनों से चक्कर काट रहे थे, वही काम मोर महापौर-मोर द्वार शिविर में केवल 20 मिनट में हो रहा है। छोटी-छोटी समस्याओं के लिए लोग परेशान हो रहे थे। इन्हीं बातों को लेकर विधायक कुलदीप जुनेजा भड़क गए। उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारियों से ये भी कहा कि कार्यशैली से लापरवाही को दूर कीजिए। विधायक के भड़कने का ये दृश्य ‘मोर महापौर-मोर द्वार” में दिखा।

पांचवे दिन ये शिविर वीर शिवाजी वार्ड क्रमांक-16 के खमतराई पानी टंकी कार्यालय परिसर और वीरांगना अवंति बाई लोधी वार्ड क्रमांक-छह के डब्ल्यूआरएस कालोनी में लगाया गया था। इन दोनों वार्डो से कुल 530 आवेदन मिले। शिविर में ही 489 आवेदनों का निपटारा किया गया।श्रम कार्ड बनवाने में की जा रही लापरवाही को लेकर भड़कने के बाद विधायक जुनेजा ने कहा कि शिविर में आमजनों एवं गरीब वर्ग का काम हो रहा है। इसके लिए महापौर,सभापति समेत एमआइसी सदस्य, पार्षद, निगम के अधिकारी और कर्मचारी बधाई के पात्र हैं।