माओवाद विरोधी अभियान में पुलिस ने माओवादियों से एक कदम आगे बढ़ते हुए एक नया व अभिनव अभियान छेड़ दिया है इस अभिनव पहल में गोंडी शब्द लोन वर्राटू ( Lone Varatu campaign) का नारा दिया गया है, जिसका शाब्दिक अर्थ है घर वापस लौटें।

13 june 2020

City news – CN

दंतेवाड़ा | माओवाद विरोधी अभियान में पुलिस ने माओवादियों से एक कदम आगे बढ़ते हुए एक नया व अभिनव अभियान छेड़ दिया है, जिसमें इलाके के मोस्ट वांटेड इनामी माओवादियों के नाम व उन पर घोषित इनाम की सूची सार्वजनिक की गई है। इसके जरिए पुलिस ने माओवादियों के नाम व पते के साथ उनके बारे में जानकारी देकर उनसे घर वापस लौटने की अपील की है।

सरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाने की अपील के साथ ही पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समेत अन्य पुलिस अफसरों के मोबाइल नंबर भी उपलब्ध कराए गए हैं। इस अभिनव पहल में गोंडी शब्द लोन वर्राटू ( Lone Varatu campaign) का नारा दिया गया है, जिसका शाब्दिक अर्थ है घर वापस लौटें। दंतेवाड़ा पुलिस अधीक्षक डॉ अभिषेक पल्लव ने यह पहल की है। इस अभियान की शुरूआत कटेकल्याण थाना क्षेत्र के चिकपाल गांव से की गई है।

पहली सूची में चिकपाल के 13 इनामी माओवाद

पुलिस द्वारा जारी पहली सूची में चिकपाल गांव निवासी 5 लाख के इनामी माओवादी व एरिया कमेटी मेंबर लखन उर्फ सुरेश मरकाम पिता हुंगा, 8-8 लाख के इनामी डीवीसी मेंबर हिड़मे मरकाम पिता हड़मा, रीजनल कंपनी सदस्य मुया मुचाकी पिता भीमा के अलावा 1-1 लाख के इनामी जोगा मरकाम, बामन मुचाकी, कुम्मा, बरूम उर्फ गंगा उर्फ लोकेश मुचाकी, चैतू पोडिय़ाम, आयते, भीमा मरकाम, लखमा मुचाकी, माड़ो मरकाम, जोगी के नाम शामिल हैं। इस सूची में माओवादियों के पदनाम के अलावा उनके द्वारा धारित शस्त्र का भी जिक्र है।

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए  – 

हमारे   FACEBOOK  पेज को   LIKE   करें

सिटी न्यूज़ के   Whatsapp   ग्रुप से जुड़ें

हमारे  YOUTUBE  चैनल को  subscribe  करें

Source link