छत्तीसगढ़ के बालोद में डेढ़ साल की बच्ची को सिगरेट से जलाने वाले आरोपी पुलिसकर्मी अविनाश राय को पुलिस ने शनिवार दोपहर को भिलाई के पावर हाउस क्षेत्र स्थित एक होटल से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस टीम उसे लेकर बालोद रवाना हो गई है। उसे कुछ देर बाद मीडिया के सामने लाया जाएगा। डीजीपी डीएम अवस्थी ने आरोपी सिपाही को बर्खास्त करने के आदेश दे दिए हैं।

मीडिया में खबरें आने के बाद डीजीपी डीएम अवस्थी ने मामले में संवेदनशीलता दिखाई। दैनिक भास्कर की खबर को छत्तीसगढ़ पुलिस ने सोशल मीडिया पर टैग किया। साथ ही पुलिसकर्मी अविनाश राय की गिरफ्तारी के लिए स्पेशल टीम का भी गठन किया गया। आरोपी कांस्टेबल की इस वहशियाना हरकत पर डीजीपी अवस्थी ने सख्त कार्रवाई की बात कही है।

उधारी के रुपए मांगने के बहाने गया था आरोपी सिपाही
बर्खास्त कांस्टेबल अविनाश राय करीब एक माह पहले बालोद के सिवनी में किराए से रहता था। दुर्ग ट्रांसफर होने के बाद वह उधार दिए गए रुपए मांगने सिवनी में अपने मकान मालिक के घर पहुंचा।

आरोप है कि गुरुवार रात शराब के नशे में धुत अविनाश ने मकान मालिक की डेढ़ साल की बच्ची से उसे पापा कहने के लिए कहा। बच्ची के मना करने पर गाली देते हुए सिगरेट से 50 जगह जला दिया।

ट्रांसफर होने के बाद से दुर्ग पुलिस लाइन से गायब था आरोपी
बताया जा रहा है कि आरोपी पुलिसकर्मी अविनाश राय का करीब 20 दिन पहले दुर्ग पुलिस लाइन में ट्रांसफर हो गया था। इसके बाद भी उसने ज्वाइन नहीं किया। घटना के 5 दिन पहले से ही वह सिवनी में अपने पुराने मकान मालिक के घर रुका हुआ था।

इसकी जानकारी पुलिस लाइन में भी किसी को नहीं थी। घटना के बाद जब पता चला तो जांच की बात कही गई।