Whatsapp button

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। रोजाना 90 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। इस बीच, सोशल मीडिया पर एक लेटर वायरल हो रहा है कि 25 सितंबर से एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने को लेकर निर्देश दिया गया है।

इसको लेकर केंद्र सरकार ने फैक्ट चैक करते हुए सही जानकारी दी है। सरकार ने 25 सितंबर से लॉकडाउन लगने की खबर को गलत बताया है।

इन दिनों सोशल मीडिया पर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (एनडीएमए) के नाम से एक सर्कुलर वायरल हो रहा है। इसमें बताया गया है कि एक बार फिर से 25 सितंबर से लॉकडाउन लगेगा।

Big Breaking : उरला के मां कुंदरगढी फैक्टरी में सरोरा के युवक को 15 -20 गुंडो द्वारा लात घुंसे और डंडे से मारते वीडियो वायरल होने के बाद भी उरला थाना द्वारा कोई कार्यवाही नही किये जाने से आक्रोशित जनता करेगी SSP का घेराव…!!

वायरल हो रहे लेटर में लिखा है, ‘देश में कोरोना वायरस के मामलों को फैलने से रोकने और मृत्युदर को कम करने के लिए, योजना आयोग के साथ एनडीएमए भारत सरकार से आग्रह करता है और पीएमओ व गृह मंत्रालय को निर्देश देता है कि 25 सितंबर की आधी रात से 46 दिनों को देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया जाए।

देश में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति श्रृंखला को बनाए रखने के लिए एनडीएमए मंत्रालय को सूचना जारी कर रहा है।’ प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) ने ट्वीट करके लेटर को फेक बताया है। पीआईबी ने लिखा, ‘यह लेटर फेक है। एनडीएमए ने फिर से लॉकडाउन लागू करने के लिए कोई ऑर्डर नहीं जारी किया है।’

अकबर के निर्देश-ऑक्सीजन की जरुरत वाले कोरोना मरीजों का सीटी स्कैन कराना अनिवार्य।

गौरतलब है कि भारत में मार्च के अंत में देशव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था। सरकार ने कोरोना वायरस के मामलों की रोकथाम के लिए लॉकडाउन लागू किया था। इसके बाद जून से कई फेज में लॉकडाउन को फिर से खोला गया। हालांकि, स्कूल-कॉलेज अभी भी बंद हैं, जबकि मार्च महीने से बंद मेट्रो को एक हफ्ते पहले चलाने की हरी झंडी दी गई थी।

Youtube button

 विज्ञापन के लिए संपर्क करें –  8889075555