रायपुर | छत्तीसगढ़ में मरवाही उपचुनाव को लेकर सियासत गरमाती जा रही है। न्याय यात्रा पर रोक को लेकर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जेसीसीजे) अध्यक्ष अमित जोगी ने चुनाव पर्यवेक्षक सहित कांग्रेस के प्रभारी मंत्री जयसिंह पर निशाना साधा है। कहा, सारा खेल दोनों ‘जयसिंह’ की मिलीभगत से चल रहा है। कांग्रेस के मंत्री क्या वैक्सीन लगाकर आए हैं, जो उनके नाचने से कोरोना नहीं फैलेगा?

जेसीसीजे अध्यक्ष अमित जोगी ने कहा, कोरोना का बहाना बनाकर मेरी मां रेणु जोगी के गैर राजनीतिक न्याय यात्रा पर भी रोक लगा दी गई है। जबकि मरवाही विधानसभा को मंत्रियों का मंत्रालय बना दिया गया है। मरवाही में मंत्री नाच गा कर कोरोना फैला रहे है। प्रदेश भर से आए हजारों की संख्या में कांग्रेसी मरवाही में बे-रोकटोक घूम घूम कर प्रचार कर रहे हैं, जो इस अंधी सरकार को नजर नहीं आ रही है।

चुनाव पर्यवेक्षक को बिकाऊ तक कह गए अमित जोगी
अमित जोगी के बोल अब चुनाव पर्यवेक्षक पर बिगड़ गए हैं। उन्होंने चुनाव पर्यवेक्षक जयसिंह को बिकाऊ तक बता दिया। कहा, केंद्रीय निर्वाचन आयोग के जयसिंह और कांग्रेस के जयसिंह सुर में सुर मिला के चल रहें हैं। आयोग की नाक के नीचे संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। इसकी शिकायत करूंगा ताकि बिकाऊ बिहारी पर्यवेक्षक की हरकतों में प्रतिबंध लगाके सबक सिखाया जा सके।

रिटर्निंग अफसर ने रेणु जोगी की न्याय यात्रा पर लगाई है रोक

दरअसल, रिटर्निंग अफसर ने सोमवार रात आदेश जारी कर जेसीसीजे की न्याय यात्रा पर रोक लगा दी है। इस यात्रा के जरिए विधायक रेणु जोगी लोगों के बीच जाकर पूर्व मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी पर लिखी किताब बांट रहीं थी। रिटर्निंग अफसर ने इसके पीछे कोरोना संक्रमण फैलने का हवाला दिया है। आदेश में कहा गया है कि पार्टी से कोई चुनाव नहीं लड़ रहा है। ऐसे में कोविड प्रावधानों का पालन मुश्किल होगा।