city news wishes for ram mandir

अंबिकापुर में बीईओ कार्यालय में पदस्थ लेखपाल ने मृत हेडमास्टर की बेटी से लीव इन कैशमैंट के नाम पर मांगे 10 हजार रुपए की घूस

3
  • लुंड्रा स्थित बीईओ कार्यालय में पदस्थ है आरोपी लेखपाल, पेंशन, ग्रेच्युटी सहित अन्य लाभ के लिए पहले भी लिए रुपए
  • प्राथमिक स्कूल देवरी के हेडमास्टर की चार साल पहले मौत हो गई थी, इसके बाद से ही परिवार को परेशान कर रहा था

11 june 2020

City News – CN

अंबिकापुर | छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में गुरुवार को एसीबी ने लेखपाल को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। पकड़ा गए लेखपाल लुंड्रा के बीईओ  कार्यालय में पदस्थ है। उसने लीव इन कैशमैंट (अवकाश नगदीकरण) की राशि का भुगतान करने की एवज में यह रुपए मांगे थे। इसके लिए वह करीब 4 साल से दिवंगत हेडमास्टर की बेटी को चक्कर लगवा रहा था। फिलहाल एसीबी आगे की कार्रवाई कर रही है। 

50 हजार मांगे थे, 10 हजार में सौदा तय हुआ

जानकारी के मुताबिक, डोडरी सूरजपुर निवासी परमेश्वर राम राजवाड़े प्राथमिक स्कूल देवरी में हेडमास्टर थे। उसकी अप्रैल 2016 में मौत हो गई। इसके बाद से ही उनकी बेटी निर्मला राजवाड़े पिता की लीव इन कैशमैंट की बकाया राशि 4 लाख रुपए के लिए बीईओ कार्यालय के चक्कर लगा रही थी। आरोप है कि बीईओ कार्यालय में पदस्थ लेखपाल पटेल राम राजवाड़े इसके लिए 50 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा था। 

घर पर मिलकर सौदा हुआ पक्का

निर्मला एक जून को लेखपाल पटेल राम से मिली तो उसने कहा कि 10 हजार रुपए दोगी तो सारा काम कर दूंगा। इसके लिए दूसरों से 20 से 30 हजार रुपए लेता हूं। इस पर निर्मला ने एसीबी में शिकायत कर दी। सत्यापन के बाद एसीबी ने ट्रैप का आयोजन किया और गुरुवार सुबह महामाया पेट्रोल पंप के पास उसे रुपए लेने बुलाया। लेखपाल ने रुपए लेने के बाद साथ लाए रजिस्टर के बीच में रखे, वैसे ही एसीबी ने उसे धर दबोचा। 

पहले भी पेंशन, ग्रेच्युटी के नाम पर लिए थे 4 हजार रुपए

आरोप है कि इससे पहले भी लेखपाल पटेल राम राजवाड़े हेडमास्टर की मृत्यु के बाद पेंशन, ग्रेच्युटी और ग्रुप इंश्योरेंस जारी करने के नाम पर 4 हजार रुपए ले चुका था। अब लीव इन कैशमैंट की 4 लाख रुपए राशि जारी करने के लिए फिर से पैसों की मांग कर रहा था। लेखपाल पर भ्रष्टाचार के साथ ही सरकारी आदेश का उल्लंघन करने की भी धाराएं लगाई गई हैं। हेडमास्टर की मृत्यु के चार साल बाद भी उनकी सेवा अवधि के लाभ को रोके रखा। 

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए  – 

हमारे   FACEBOOK  पेज को   LIKE   करें

सिटी न्यूज़ के   Whatsapp   ग्रुप से जुड़ें

हमारे  YOUTUBE  चैनल को  subscribe  करें

Source link