• 02 AUGUST 2020
  • City news – India 
  • Death news 

Whatsapp button

बदायूं | जनपद में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ अस्पतालों की लापरवाही भी सामने आ रही है| कहीं पर मरीज को ठीक तरह से इलाज नहीं मिल पा रहा है, तो कहीं पर अव्यवस्थाएं हावी है|

ऐसा ही एक मामला मेडिकल कॉलेज से सामने आया है| डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से कोरोना संक्रमित एक महिला की मौत हो गई|

महिला कई घंटे तक बेड के नीचे पड़ी तड़पती रही, लेकिन डॉक्टर उसकी ऐसी स्थिति देखने बाद भी इलाज को नहीं पहुंचे|

बेचैनी होने पर महिला रात के समय ही बेड से नीचे गिर पड़ी थी, जिसकी जानकारी वहां पर मौजूद अन्य मरीजों ने डॉक्टरों और स्टाफ को दी | परंतु वार्ड में तैनात स्टाफ चैन की नींद सोता रहा|

इसके बाद मरीजों ने ही उसे बेड पर लेटाया। इसके बाद भी मेडिकल कॉलेज प्रशासन अपने स्टाफ की गलती मानने के लिए तैयार नहीं है|

पेशेंट ने खुद लगाया आक्सीजन मास्क

जिस महिला की मौत हुई है| वह कस्बा अलापुर के वॉर्ड नंबर चार की रहने वाली थी| यह महिला दो दिन पूर्व ही मेडिकल कॉलेज में भर्ती हुई थी|

मेडिकल कॉलेज से इस महिला का जो वीडियो वायरल हो रहा है, उसमें साफ दिखाई दे रहा है कि महिला बेहोशी की हालत बेड से नीचे गिरी हुई है|

जिसने होश में आने पर खुद ही ऑक्सीजन मास्क लगाया, लेकिन उठ न सकी| इस बात की जानकारी वार्ड में भर्ती मरीजों ने तैनात डॉक्टर और संबंधित स्टाफ को दी| लेकिन कोई देखने नहीं आया|

मरीजों द्वारा ही महिला को बेड पर लिटाया गया| शनिवार को फिर से महिला की हालत बिगड़ गई और वह फिर से बेड से नीचे गिर गई| जिसकी जानकारी होने वहां पर तैनात डॉक्टर उसे देखने पहुंचे|

महिला की स्थिति देखकर यह कहकर चले गए कि अभी पीपीई किट पहनकर आता हूं, लेकिन एक घंटे तक वह नहीं लौटे| इस दौरान महिला जमीन पर बेसुध पड़ी रही| थोड़ी देर बाद महिला की मौत हो गई|

महिला की मौत के बाद मेडिकल प्रशासन द्वारा इसकी जानाकरी उसके परिजनों को दी गई| उसके बाद उसके शव का अंतिम संस्कार करा दिया गया| मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की लापरवाही के बाद भी प्राचार्य इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं हैं|

डॉक्टरों की गलती नहीं : प्राचार्य

बदायूं मेडिकल कालेज के प्राचार्य डॉ. आरपी सिंह का कहना है कि बेचैनी होने पर महिला बेड से नीचे गिर गई थी|

उसने ऑक्सीजन मास्क भी निकाल दिया था, जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई| डॉक्टरों द्वारा महिला को बचाने की भरपूर कोशिश की गई थी| इसमें उनकी कोई गलती नहीं है|

Whatsapp button

Youtube button