SALE 80% OFF| 100 मास्क | ऑफर सिर्फ इस हफ्ते तक | अभी खरीदें | सुरक्षित रहें

खुलेआम राहगीरों का मोबाइल लूट रहे बाइक सवार बदमाश लुटेरे, पुलिस को नहीं है चिंता

  • अगर आप अपने घर के बाहर टहल रहे हैं या सड़क किनारे पैदल चलते हुए मोबाइल से बात कर रहे हैं, तो अलर्ट रहें।
  • बाइक सवार बदमाश आपका मोबाइल लूट सकता है। शहर में कई लोगों से इस तरह लूट की वारदात हो चुकी है।
  • पुलिस उन लुटेरों का पता नहीं लगा सकी है। पिछले दो माह में अलग-अलग थाना क्षेत्र में मोबाइल लूटने की 10 से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं।

21 june 2020,

City News – CN      City news logo

केस-1
करीब दस दिन पहले इंद्रावती कॉलोनी राजातालाब निवासी ऋषिका जैन सुबह दूध लेने जा रही थी। इसी दौरान केनाल रोड पर बाइक सवार दो युवक पहुंचे और उनके हाथ से मोबाइल छिनकर भाग निकले। सिविल लाइन पुलिस ने अज्ञात लुटेरों के खिलाफ मामला दर्ज किया। आरोपियों का अब तक पता नहीं चल पाया है।

केस-2
देवेंद्र नगर सेक्टर-2 निवासी कुणाल तुलसानी 16 जून की रात करीब 11.30 बजे अपने घर के बाहर टहल रहे थे। टहलते हुए मोबाइल से किसी से बात कर रहे थे। इस दौरान बाइक सवार दो युवक पहुंचे। उनका मोबाइल लूटकर भाग निकले। इसकी शिकायत पर गंज पुलिस ने अपराध दर्ज किया है।

केस-3
गंज इलाके में ही सुलतान नाम के युवक से भी शहीद स्मारक भवन के पास लूट हो गई। 16 जून की रात दोपहिया सवार दो युवकों ने उनका मोबाइल लूट लिया और भाग निकले। इस मामले में भी आरोपियों का अब तक पता नहीं चल पाया है।

दो माह में 10 से ज्यादा लूट- अलग-अलग थाना क्षेत्र में हो रही वारदात

वारदात करने वालों का अब तक पता नहीं चल पाया है। इससे लुटेरों का हौसला और बढ़ा है। आजादचौक, सिविल लाइन, राजेंद्र नगर, गंज, उरला, खमतराई, पंडरी, सरस्वती नगर आदि इलाके में मोबाइल लूट की घटनाएं हो चुकी हैं।
मोबाइल लूट की अधिकांश घटनाएं शाम को या रात में हो रही है।

लुटेरे घर के बाहर टहलते या सड़क किनारे पैदल चलते हुए मोबाइल में बात करने वालों को निशाना बनाते हैं। कई बार हाथ में मोबाइल लेकर चलने वालों से भी मोबाइल लूटकर भाग जाते हैं। लुटेरे बाइक या अन्य दोपहिया वाहन सवार रहते हैं और शहर भर में घूमते रहते हैं।

जैसे ही कोई मोबाइल में बात करते हुए टहलते या पैदल जाते हुए नजर आता है, मोबाइल लूटकर फरार हो जाते हैं। शहर में कई ऐसे मोबाइल दुकान हैं, जो चोरी और लूट की मोबाइल खरीद रहे हैं। शहर के अलावा दूसरे जिलों में भी कई मोबाइल दुकान हैं, जो चोरी या लूट का सामान आसानी से खरीद रहे हैं।

चोरी या लूट का मोबाइल आसानी से खप जाने के कारण ही इस तरह की वारदातें ज्यादा हो रही है। लूट या चोरी के मोबाइल को ट्रेस करके आरोपियों तक पुलिस पहुंच सकती है, लेकिन पुलिस अब तक अपराधियों का पता नहीं लगा पाई है। उल्लेखनीय है कि एंड्रायड मोबाइल में कई सिक्युरिटी फीचर होते हैं, जिसके जरिए पुलिस उन तक पहुंच सकती है।

मोबाइल लूटने के मामलों की जांच पुलिस गंभीरता से रही है। इसमें शामिल आरोपियों की तलाश में पुलिस की कई टीमें लगी हैं। आरोपियों को जल्द ही पुलिस पकड़ लेगी।

-पंकज चंद्रा, एएसपी-शहर, रायपुर

Breaking -   राजधानी रायपुर के 18 मरीजों में चंगोराभाठा, बुढा तालाब क्षेत्र सहित देखें और कहां कितने मरीज मिले...

    FOR LATEST NEWS UPDATES   

  LIKE US ON FACEBOOK  

 JOIN WHATSAPP GROUP 

 SUBSCRIBE YOUTUBE CHANNEL 

Source link

Share on :