मरने के बाद फिर ज़िंदा हुई है महिला, फिर हुई मौत

611

सिटी न्यूज़ रायपुर। क्या मौत के बाद फिर कोई लौटकर आ सकता है ? आप कहेंगे कि ऐसा तो सिर्फ फिल्मों कहानियों में होता है। मगर ऐसा हकीकत में भी हो चुका है यह हुआ है यूपी में। जी हाँ उत्तरप्रदेश के फ़िरोज़ाबाद में एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने सभी को स्तब्ध कर दिया है। फ़िरोज़ाबाद में एक 81 वर्षीय महिला को ब्रेन हैमरेज हुआ था परिजन जब उसे अस्पताल लेकर गए तो डॉक्टरों ने उसे ब्रेन डेड बता दिया। इसके बाद परिजनों में मातम छा गया। महिला के अंतिम संस्कार की तैयारियां होने लगीं।

फिर अर्थी को शमशान घाट ले जाया जा रहा था, तभी कुछ ऐसा हुआ जिसने अंतिम यात्रा में शामिल सभी को एक पल के लिए डरा दिया। शमशान घाट जाते समय ही 81 वर्षीय महिला ने अपनी आंख खोल दी. यह देखकर परिजन चौंक पड़े. कुछ समय के लिए डर भी गए मगर स्थिति सामान्य होने पर महिला को फिर घर लाया गया, परिजनों को लगा कि अब वो ठीक हो जाएगी, सभी खुशियां मनाने लगे, मगर उनकी यह ख़ुशी ज़्यादा देर नहीं टिक पाई।

आपको बता दें कि उत्तरप्रदेश फिरोजाबाद के जसराना कस्बे की रहने वाली 81 वर्षीय हरिभेजी को ब्रेन हैमरेज के चलते फिरोजाबाद के ही एक ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था. ट्रॉमा सेंटर में हरिभेजी के ब्रेन और दिल ने काम करना बंद कर दिया. ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने कहा कि क्लिनिकली अब ये डेड हो गई है. इसके बाद परिजन महिला के अंतिम संस्कार के लिए उसे शमशान लेकर जा रहे थे लेकिन तभी महिला जाग उठी।

रास्ते में ही सिविल लाइन और मक्खनपुर के बीच अचानक हरिभेजी ने आंख खोल दी। परिजन उसे घर ले आए। परिजनों को लगा कि डॉक्टर ने उनसे गलत बोला है, यह तो जिंदा है. उसके बाद हरीभेजी को अपने घर ले गए, जहां उनसे गौ-दान कराया गया. ग्रामीणों ने बताया कि हरिभेजी ने चम्मच से चाय भी पी थी. उनकी हालत खराब ही थी, लेकिन मौत नहीं हुई थी. परिजनों को थोड़ी तसल्ली हुई कि उनकी घर की सबसे बुजुर्ग सदस्य अभी जिंदा हैं। लेकिन दूसरे दिन महिला की मौत हो गई।

इस घटना के बाद डॉक्टर्स भी आश्चर्यचकित हैं कि मेडिकल साइंस द्वारा किसी को डेड डिक्लेअर करने के बाद भी वो ज़िंदा कैसे हुआ या रह सकता है। बहरहाल दूसरे दिन महिला की पुनः मौत हो जाने के बाद उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।