Treatments of lotus dental clinic birgaon

देवरी में निजी क्लीनिक पर उपचार कराने गई एक महिला की मौत हो गई। महिला के स्वजन ने थाने पहुंचकर डाक्टर द्वारा गलत उपचार करने की वजह से मौत होने की शिकायत का आवेदन दिया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

महिला का होगा पोस्टमार्टम

जानकारी के मुताबिक बुधवार की शाम बस स्टैंड के पास स्थित डा सौमित्र गोस्वामी के निजी अस्‍पताल पर एक महिला इलाज कराने गई थी। जहां उसे बोतल चढ़ाई गई और उसमें तीन इंजेक्शन मिलाए। यह बोतल लगने के बाद महिला की मौत हो गई। पुलिस ने महिला के शव को पीएम कराने के लिए शव बुंदेलखंड मेडिकल कालेज भेजा हैं, जहां डाक्टर्स का पैनल पोस्टमार्टम करेगा।

डाक्टर ने कही ब्लड‍ रिपोर्ट लाने की बात

कंजेरा निवासी ओमप्रकाश तिवारी ने बताया कि उनकी पत्नी अरुणा को बुखार की शिकायत थी। इस पर वे उसे बुधवार को डा. सौमित्र गोस्वामी के यहां इलाज कराने के लिए लाए थे। डा. गोस्वामी ने जांच कर कुछ गोलियां खिलाई और कहा कि ब्लड टेस्ट रिपोर्ट लेकर आने की बात कही। जब वह ब्लड टेस्ट रिपोर्ट लेकर पहुंचे तो उन्होंने कहा कि पत्नी को बुखार है। उन्हें बोतल चढ़ाना पड़ेगी।

जब करीब 7 बजे डाक्टर गोस्वामी की अस्‍पताल पर पहुंचे तो उन्होंने एक बोतल चढ़ाई और उनमें 3 इंजेक्शन मिलाएं और एक इंजेक्शन बाहर के मेडिकल से लाने के लिए कहा। वह इंजेक्शन लेकर आए जो उन्होंने उसी बाटल में भर दिया। उस समय उनकी पत्नी बातचीत कर रही थी। जब 15 -20 मिनट बाद लौटकर डा. गोस्वामी के अस्‍पताल पहुंचे तो वहां भीड़ लगी हुई थी।

गलत इलाज का आरोप

मरीजों ने बताया कि डाक्टर गोस्वामी उसकी पत्नी को लेकर सरकारी अस्पताल लेकर गए हैं। जब सरकारी अस्पताल पहुंचे तो उनकी पत्नी अरुणा तिवारी स्ट्रेक्चर पर पड़ी थीं। जहां डाक्टर ने बताया कि पत्नी की मौत हो चुकी है। मृतिका के पति का आरोप है कि डाक्टर के गलत इलाज के कारण उनकी पत्नी की मौत हुई है।

महिला अरुणा तिवारी की मौत की वजह कार्डिया अटैक है। महिला के साथ अटेंडर ना होने के कारण हम सरकारी अस्पताल लेकर गए थे। जहां अस्पताल के डाक्टर ने मृत घोषित बताया। -डा. सुमित्रा गोस्वामी

पुलिस ने डा. सौमित्र गोस्वामी के अस्‍पताल को सील कर दिया है। इलाज के कारण हुई महिला की मौत के मामले में पैनल डाक्टर द्वारा पोस्टमार्टम कराया गया है। पति की रिपोर्ट पर मर्ग कायम किया गया है। विसरा प्रिजर्व कर जांच के लिए भेजा जाएगा। मामले में वैधानिक जांच की जा रही है और जो भी साक्ष्य आएंगे, उसे पर कार्रवाई की जाएगी। -निशांत भगत, उप निरीक्षक, पुलिस थाना देवरी