संसद सत्र मे बाहर ठंडी और सदन के भीतर गर्मी रहेगा…

127

नई दिल्ली :  संसद का शीतकालीन सत्र आज यानी बुधवार से शुरू हो रहा है। कामकाज के लिहाज से वैसे तो यह सत्र सिर्फ 17 दिनों का ही है, लेकिन कांग्रेस सहित विपक्ष दलों ने मंगलवार को सरकार की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में जिस तरह का रुख दिखाया है, उससे इस सत्र के गर्म रहने के आसार हैं। हालांकि गतिरोध की आशंका कम है।गुजरात-हिमाचल चुनाव का भी सत्र पर दिखेगा असर
गुजरात व हिमाचल प्रदेश चुनावों का भी असर इस सत्र पर दिखेगा,जिसके परिणाम आठ दिसंबर को आ रहे हैं। इस बीच कांग्रेस सहित दूसरे विपक्षी दलों ने चुनाव आयुक्त की एक दिन में नियुक्ति, चीन के साथ सीमा पर तनाव, महंगाई, ईडब्लूएस आरक्षण की फिर से समीक्षा जैसे विषयों पर सरकार से चर्चा की मांग की है। वहीं, सरकार ने भी संसद के सुचारू संचालन के लिए सभी मुद्दों पर चर्चा का भरोसा दिया है।

सर्वदलीय बैठक में पहुंचे कई नेता
संसद के शीतकालीन सत्र के शुरू होने से ठीक पहले सरकार की ओर से बुलाई गई बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राज्यसभा के नेता और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी के अलावा कांग्रेस और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी, टीएमसी के नेता डेरेक ओब्रायन आदि मौजूद थे।