बड़ी खबर : अब इस कांग्रेस नेता ने मांगा सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत, राहुल ने किया किनारा, मचा बवाल

219

सिटी न्यूज़ रायपुर। सर्जिकल स्ट्राइक पर एक बार फिर से सवाल उठने लगे हैं। इस बार यह सवाल कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने उठाया है।  भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने पहुंचे कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह से बयान पर सियासत तेज हो गई है। जम्मू-कश्मीर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए दिग्विजय सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर कहा था कि सरकार ने इसका कोई प्रमाण नहीं दिया है और सरकार झूठ के पुलिंदे पर ही चल रही है. उन्होंने कहा, “वे यानी केंद्र सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते हैं और उन्होंने इतने लोगों को मारा है, लेकिन इसका कोई सबूत नहीं है. केंद्र झूठ के सहारे शासन कर रहा है. मैं आपको बताना चाहता हूं कि यह देश हम सभी का है.

दिग्विजय सिंह के इस बयान पर मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री और कभी खुद दिग्विजय सिंह के साथ कांग्रेस में सहभागी रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी दिग्विजय सिंह के बयान पर निशाना साधा और उनके बाद अब प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ा प्रहार किया है। शिवराज ने दिग्विजय सिंह के बयान पर राहुल गांधी से सफाई मांगी तो कांग्रेस के ‘डीएनए में पाकिस्तान प्रेम’ होने की बात कही।

वहीं कांग्रेस नेता और भारत जोड़ो यात्रा के नेतृत्वकर्ता राहुल गाँधी ने दिग्विजय सिंह के बयान से किनारा कर लिया है। उन्होनें कहा कि मैं दिग्विजय सिंह के बयान से सहमत नहीं हूँ, यह उनकी निजी राय है। वहीं अपने बयान पर विवाद बढ़ता देख कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को अपने सर्जिकल स्ट्राइक वाले बयान पर सवाल पूछे जाने पर कहा कि  ‘रक्षा बलों का मैं बहुत सम्मान करता हूं।’ इतने में जयराम रमेश आए और दिग्विजय सिंह को पीछे खींचा।

गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा हमले को लेकर सवाल ऐसे समय में उठाए हैं जब उनके गृहराज्य मध्य प्रदेश में कुछ ही महीनों बाद चुनाव होने जा रहे हैं। यह वजह है कि मध्य प्रदेश के भाजपा नेताओं ने दिग्विजय सिंह के बयान को लपक लिया है और इसका इस्तेमाल कांग्रेस के खिलाफ शुरू कर दिया है। यह बयान राजनितिक अम्लों में कितना भुनाया जाता है, यह देखने वाली बात होगी।