नकलची होने से नहीं बनेंगे आत्मनिर्भर….. मोहन भागवत

169

सिटी न्यूज़ ….संघ प्रमुख मोहन भागवत गुरुवार को नागपुर में थे. यहां एक कार्यक्रम में उन्होंने बताया कि हिंदू कौन है, संघ क्या चाहता है और भारत को क्या बनना है.उन्होंने कहा, “भारत को जो मानता है, भारत की भक्ति जिसके पास है, संस्कृति के अंदर चलने का प्रयास करने वाले, बलिदान देने वालों का अनुसरण करने वाला, किसी की भी पूजा करे, कोई भी कपड़ा पहने, कहीं भी पैदा हो, एक समाज बनाएं, वो हिंदू है.”उन्होंने कहा, हमारा राष्ट्र चरित्र सिखाता है. सारी दुनिया को संतुलन सिखाएंगे. हमें दुनिया को जीतना नहीं है, हमें दुनिया को जोड़ना है. हम स्वयं सेवकों को सिखाते नहीं हैं, हम उनकी आदत बनाते हैं. हम भारत को जानकर, भारत जैसा बनना चाहते हैं. हम नकलची होगें, तो आत्मनिर्भर नही बनेंगे. हमें भारत को जानना होगा.