Home India news Chhattisgarh news

सावधान : छत्तीसगढ़ में कोरोना से मौत का ग्राफ जिस तेजी से बढ़ रहा है ; हृदय रोगी, शुगर और इन मरीजों को ज्यादा खतरा

Whatsapp button

फीवर क्लीनिक में पहुंचने वाले लोगों कमरे में न सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे, न ही इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा गंभीरता दिखाई जा रही। शास्त्री अस्पताल सुपेला में बनाए गए फीवर क्लीनिक में रोजाना जहां लंबी कतारें लग रहीं, वहीं कमरे के अंदर भीड़ जुट रहे। आने वाले लोगों में कुछ तो मास्क तक नहीं लगा रहे।

  • 59 कोरोना मरीजों ने भर्ती होने के 5 दिनों के भीतर ही दम तोड़ दिया
  • 10 मौतों में 57 दिन लगे, अब 8 दिन में ही 100 का आंकड़ा हो गया पार
  • बढ़ते संक्रमण के बाद मौत के आंकड़े बढ़े100 दिनों में 203 मरीजों की हुई मौतें
  • अब तक 74 % पुरुषों और 26 % महिलाओं की हो चुकी है जिले में मौत

कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा जिले में 200 पार चला गया है। इनमें 74 % पुरूष और 26 % महिलाएं हैं। 2 जून को कोरोना से जिले में पहली मौत हुई थी। तब से अब तक यानी कि 100 दिनों में 203 मरीजों की मौत हो चुकी है।

उरला पुलिस का एक और कारनामा : बीरगांव क्षेत्र के गांजा और अवैध शराब तस्करों पर पुलिस मेहरबान : दूसरी ओर शिकायत करने वालों पर पुलिसवाला गुंडा ने बेरहमी से जमकर बरसाया लाठी : वाह रे सरकार..!!

सिंतबर के महीने में रोज औसतन 10 कोरोना मरीज दम तोड़ रहे हैं। शुरू में पहली मौत से 10 मौतों होने में 57 दिन लगे थे, अब तो 100 मौतें 8 से 10 दिनों के भीतर होने लगी है। भर्ती होने के बाद मौत होने के दिनों की संख्या भी पहले की तुलना में कम होती जा रही है। 146 में से 59 मरीजों की मौत भर्ती होने के 5 दिनों के भीतर हो गई है। इसमें 27 मरीज ब्राड डेड हॉल में जिले के अलग-अलग अस्पताल पहुंचे।

निजी अस्पतलों में बढ़ रही थी मौत, कलेक्टर ने बैठाए नोडल…

जिले के निजी कोविड अस्पतालों में कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने गुरुवार से नोडल अधिकारियों को बैठा दिया है। ये अधिकारी सभी निजी अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों की समस्याओं का समाधान करेंगे। अस्पतालों में मौत का आंकड़ा बढ़ने के बाद यह व्यवस्था बनाई गई।

ये आंकड़े खुद सवाल खड़े कर रहे हैं…

  1. संदिग्ध मरीजों की जांच में लगातार हो रही है देरी
  2. ट्रेसिंग में लापरवाही बरती जा रही रही, मौत के बाद जांच
  3. ट्रीटमेंट समय से नहीं मिल रहा, अस्पताल के चक्कर लग रहे
  4. वायरस को मारने वाला सैनिटाइजेश का काम नहीं हो रहा
  5. डोर-टू-डोर सर्वें में खानापूर्ति हो रही, घरों तक नहीं पहुंचे वर्कर

कांग्रेस नेता राजू दुबे की कोरोना से मौत, राजनीतिक जगत में मचा खलबली।

कलेक्टर द्वारा जारी निर्देश के बाद अस्पतालों में बनाए गए नोडल…

  • बीएसआर हाईटेक हास्पिटल- किशोर गोलघाटे, जिला खनिज अधिकारी..9111710000
  • स्पर्श हास्पिटल, रामनगर, डी एस वर्मा, उप संचालक, जिला रोजगार, 9755986280
  • बीएस शाह हास्पिटल, विपिन जैन, जिला कार्यक्रम अधिकारी, 6262470000
  • एसआर हास्पिटल एवं रिसर्च सेंटर, सचिन भौमिक, जिला विपणन अधि..9907802233
  • मित्तल हास्पिटल जुनवानी, सुरेश ठाकुर, उप संचालक उद्यानिका, 9425597714
  • आईएमआई हास्पिटल, दोनर सिंह ठाकुर, उप संचालक, समाज कल्याण 7587842145
  • वर्धमान हास्पिटल, दुर्ग, प्रिय वंदा राम टेके, सहायक आयुक्त, 7898791489
  • स्टील सिटी हास्पिटल, आर के कुर्रे, उप संचालक, जिला रोजगार का 9407610778

Youtube button

 विज्ञापन के लिए संपर्क करें –  8889075555