• कुछ मरीज बार-बार जांच करवाने से नहीं आ रहे बाज, इसलिए सख्ती
  • स्वास्थ्य विभाग के संसाधनों और समय दोनों की हो रही बर्दबादी

09 JULY 2020,

City News – India 

City news logo Subscribe Youtube channel 

गुड़गांव | प्रदेशभर में कुछ लोग बार-बार कोरोना की जांच करवाने से बाज नहीं आ रहे हैं। इस तरह के मामले गुड़गांव में ज्यादा हैं। ऐसे में अब स्वास्थ्य विभाग इस पर सख्त हो गया है।

यदि कोई मरीज एक बार से अधिक जांच करवाता है तो उसके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा। सिविल सर्जन ने यह निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने अब ऐसे मरीजों की सूची तैयार करनी शुरू कर दी है, जो बार-बार जांच करवा रहे हैं।

 facebook page 

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की नई गाइडलाइन के अनुसार संक्रमित मरीज के स्वस्थ होने पर उसकी दोबारा जांच करवाने की जरुरत नहीं है। बार-बार जांच करवाने से स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ कोरोना जांच लैब पर काम का दबाव बढ़ गया है। 

गुड़गांव के सिविल सर्जन वीरेंद्र यादव का कहना है कि कुछ लोग बार-बार जांच करवा रहे हैं। इससे संसाधनों और समय की बर्बादी हो रही है। ऐसे लोग खुद की संतुष्टि के लिए बार-बार जांच करवा रहे हैं।  

 Join Whatsapp 

अब तक 282 मरीजों की कोरोना से मौत

प्रदेश में अभी तक 282 मरीजों की मौत हुई है। इनमें 208 पुरुष और 74 महिला शामिल हैं। अभी तक गुड़गांव में 102, फरीदाबाद में 97, सोनीपत में 20, रोहतक में 12, करनाल में 8, पानीपत व हिसार में 7, रेवाड़ी और अम्बाला में 5, भिवानी, झज्जर व जींद में 4-4, पलवल में 3 तथा नूंह, कुरुक्षेत्र, नारनौल व चरखी-दादरी में 1-1 मरीज की मौत हो चुकी है।

 

 facebook page    Join Whatsapp

 Subscribe Youtube channel 

 Source link