Fraud Case : छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर की पुलिस के पास ठगी के तीन मामले सामने आए हैं। इन केसेस में ठगी करने वालों को न तो देखा गया है, ना ही जो ठगे गए उन्होंने कभी ठगों से कोई मुलाकात की। फोन और सोशल नेटवर्किंग साइट पर धोखेबाजी का ऐसा जाल बिछाया गया कि लाखों की हेराफेरी देखते ही देखते हो गई। शहर के देवेंद्र नगर और मोवा थाने में इस घटना की FIR दर्ज कर पुलिस अब साइबर सेल की मदद लेकर ठगी करने वालों को तलाशने में जुटी है।

1. इंस्टाग्राम पर पैसे डबल करने का प्रचार
ठगों का गिरोह पर सोशल साइट के जरिए युवाओं को झांसे में लेने का काम कर रहा है। रायपुर के देवेंद्र नगर की रहने वाली 26 साल की एक लड़की ऐसे ही गैंग का शिकार हो गई। फाफाडीह की ओर जाने वाली गली में रहने वाली इस लड़की ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट देखी।

ठगों ने लिख रखा था कि वो लोगों के पैसे कुछ ही दिनों में डबल कर देते हैं। युवती ने उनसे संपर्क किया। एमपी के रहने वाले स्वदेश यादव ने लड़की से बात की। इसके बाद पैसे जमा करावाकर डबल पैसे लौटाने का सपना ठग ने लड़की को दिखाया। युवती ने आरोपी के बताए खाते में अपने गूगल पे से 3 बार में 38 हजार रुपए दिए। पैसे मिलते ही ठग से लड़की का कोई संपर्क नहीं हो सका अब मामला थाने पहुंचा है।

Fraud Case

Fraud Case

2. लोन मिल जाएगा कहकर ले लिए 4 लाख 96 हजार
मार्च में आई ठगी की शिकायत में जांच के बाद अब मोवा पुलिस ने केस दर्ज किया है। इस केस में मुंबई के गैंग ने रायपुर के युवक को ठगा है। दलदल सिवनी के रहने वाले नवनीत श्रीवास्तव ने पुलिस को बताया कि इनके पास एक फोन कॉल आया था। कॉलर ने कहा कि बजाज फायनेंस कंपनी से बोल रहा है। बिजनेस या पर्सनल यूज के लिए वो लोन देगा।

बातों में आकर नवनीत ने 6 हजार रुपए प्रोसेसिंग फीस जमा करवा दिए। इसके बाद अलग-अलग बहाने बनाकर ठगों ने 4 लाख 96 हजार 630 रूपये जमा करा लिया। खुद को बड़ी कंपनी का कर्मचारी बताकर ठगों ने युवकों को भरोसे में ले रखा था बाद में कह दिया कि अब आपके लोन की फाइल रिजेक्ट हो गई और जिन नंबरों से युवक को कॉल आते थे वो भी कनेक्ट नहीं हो रहे। शुरूआती जांच में टीम ने पाया कि रकम मुंबई के यस बैंक के खातों से निकाली गई है। जल्द ही इस मामले में ठगी करने वालों तक पुलिस पहुंच सकती है बैंक से भी सारी डीटेल्स मांगी जा रही हैं।

596102 cyberfraud 040417 | Fraud Case City News - Chhattisgarh

Fraud Case

3. क्रेडिट कार्ड बंद करने का झांसा

प्रायवेट बैंक का क्रेडिट कार्ड बंद करने का झांसा देकर साइबर ठगी करने का मामला सामने आया है। आपको बता दे कि ठग ने OTP पूछ बैंककर्मी के ही खाते से 2 लाख 27 हजार 280 रुपए पार कर दिये।

इस मामले की शिकायत पीड़ित ने पुलिस में तीन माह पहले की थी जिसकी जांच के बाद अब केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने बताया कि प्रार्थी पंकज मिश्रा ने आरोपियों की शिकायत सायबर सेल में फरवरी माह में की थी। पंकज ने RBL बैंक का क्रेडिट कार्ड अप्लाई किया था, क्रेडिट कार्ड जिस दिन पहुंचा, उसी दिन बैंककर्मी ने उसे बंद कराने के लिए गूगल से बैंक के कस्टमर केयर का नंबर निकाला और फोन किया।

fraud Fraud Case

Fraud Case