Home Festival news अनोखा पंडाल : 25 हजार शराब की बोतल से बना दुर्गा...

अनोखा पंडाल : 25 हजार शराब की बोतल से बना दुर्गा पंडाल: गुटखा पैकेट और गांजे का भी उपयोग.. नशा छोड़ने के लिए बनाया शपथ जोन

1193

झांकी में 25 हजार से ज्यादा शराब की बोतलों का उपयोग

समिति ने इस बार दर्शनार्थियों को नशे से दूर रहने का संदेश देने के लिए नशा मुक्ति थीम पर झांकियां तैयार करवाई है। इस झांकी को तैयार करने में 25 हजार से अधिक शराब की बोतलें लगाई गई हैं। गुटखे के पैकेट से पंडाल को सजाया गया है। पंडाल में गांजे की खेती को दिखाया गया है। इंजेक्शन के नशे और सिगरेट के नशे से नुकसान को दिखाया गया है।

नशे की लत छुड़ाने शपथ जोन भी

दुर्गा पंडाल में लोगों को शराब, गांजा, सिगरेट, गुटखा, चरस, अफीम सहित अन्य सभी नशे के दुष्परिणाम को दिखाया गया है। इन झांकियों को देखने के बाद यदि किसी का मन बदलता है और वह नशा छोड़ना चाहता है तो उनके लिए यहां शपथ जोन बनाया गया है। लोग शपथ जोन में आकर मां दुर्गा को साक्षी मानकर नशा छोड़ने के लिए संकल्प ले पाएंगे।

निःशुल्क वैक्सीनेशन, हड्डी-किडनी जांच परामर्श शिविर

समिति के प्रबंधक विजय सिंह ने बताया कि 26 सितंबर से 8 अक्टूबर तक कोविड-19 के दुष्प्रभाव से बचने के लिए वैक्सीनेशन शिविर लगाया जाएगा। यहां लोग पहले-दूसरे और बूस्टर डोज निःशुल्क लगवा पाएंगे। वैक्सीनेशन का समय सुबह 10 से शाम 5 बजे तक रहेगा। इसके बाद 28 सितंबर को दोपहर 3 बजे से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया है। इसमें समिति के सदस्य सहित आमजन भी रक्तदान कर सकते हैं। समिति ने 51 यूनिट ब्लड डोनेट का लक्ष्य रखा है। 2 अक्टूबर को अस्थि रोग विशेषज्ञ सुबह 11 से 2 बजे तक हड्डी रोग से संबंधित जांच व उपचार करेंगे। इसी दिन दोपहर 2 से शाम 5 बजे तक किडनी रोग विशेषज्ञों का शिविर लगाया जाएगा।

अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में आएंगे जाने-माने कवि

अष्टमी को हवन के बाद कन्या भोज का आयोजन किया गया है। 5 अक्टूबर दशहरे के दिन भंडारा होगा। 8 अक्टूबर को समिति की ओर से पूजा प्रांगण स्थल पर अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया है। इसमें कई कवि भाग लेंगे।