CBSE 12वीं के नतीजों में CG की बेटियों का कमाल; शुभी शर्मा को 99.4% मार्क्स, शांभवी को 99 प्रतिशत अंक

365

रायपुर, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 12वीं के परिणाम जारी कर दिए हैं। इस बार लड़कियों ने बाजी मारी है। छत्तीसगढ़ में भी बेटियों ने कमाल किया है। यहां बिलासपुर की शुभी शर्मा ने 99.4 प्रतिशत, रायपुर की शांभवी शर्मा ने 99 प्रतिशत और पाखी दुबे ने 98.6% अंक हासिल किए हैं। रायपुर में सबसे ज्यादा अंक शांभवी शर्मा को मिले हैं, वो केपीएस रायपुर की छात्रा हैं।

सीबीएसई बोर्ड ने 12वीं के स्टूडेंट्स को सरप्राइज दे दिया है। सीबीएसई ने बिना किसी नोटिफिकेशन या पूर्व सूचना के सीधे ही 12वीं टर्म- 2 के नतीजे जारी कर दिए हैं। नतीजों का लिंक आधिकारिक वेबसाइट https://cbseresults.nic.in/ पर एक्टिव कर दिया गया है। अब ऐसे में, जो भी स्टूडेंट्स 12वीं कक्षा के नतीजों का इंतजार कर रहे थे, वे पोर्टल पर जाकर अपने स्कोर चेक कर सकते हैं।

इन बच्चों ने बताया है कि जरूरी नहीं है कि आप काफी घंटे तक सब कुछ पढ़ते रहें, अच्छे नंबर के लिए सबसे जरूरी है कि आप खुद को मोटिवेट रखें, सेल्फ स्टडी करते रहें। इससे सब कुछ पॉसिबिल हो सकता है। स्टूडेंट अपने परिणाम CBSE की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं। इस बार 12वीं में कुल 92.71 प्रतिशत बच्चे पास हुए हैं। छत्तीसगढ़ में भी कई बच्चों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

शुभी शर्मा बिलासपुर के दिल्ली पब्लिक स्कूल की छात्रा हैं। उन्होंने 500 में से 497 अंक प्राप्त किए हैं। उन्होंने आर्ट्स सब्जेक्ट में यह उपलब्धि हासिल है। शुभी हमेशा से ही एक बेहतरीन स्टूडेंट रही हैं। उन्होंने 10वीं में भी 98.3 अंक हासिल किया था। अब 12वीं में भी उन्हें 99.4 प्रतिशत अंक मिले हैं।

NCERT सबसे जरूरी

शुभी शर्मा के पिता SECL में CVO हैं। शुभी ने बताया कि रोज पढ़ना जरूरी है। मैंने घंटे तो काउंट नहीं किए हैं। पिछले साल के प्रश्न बैंक को खत्म किया,NCERT से पढ़ाई की। शुभी ने बताया कि सीबीएसई में सबसे जरूरी है NCERT। इसके माध्यम से ही मुझे सफलता मिली है। आगे जाकर शुभी ऑफिसर बनना चाहती हैं। उन्होंने अभी से तैयारी भी शुरू कर दी है। आगे की पढ़ाई के ले वह दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने वाली हैं। शुभी ने यह भी बताया कि उनकी मां भी वर्किंग थीं, लेकिन उनकी पढ़ाई की वजह से उन्होंने पिछले एक साल से ब्रेक ले रखा है।

पापा टेलर, बेट ने किया कमाल

पवन कुमार रामनानी केपीएस डुंडा रायपुर के छात्र हैं। उन्होंने मैथ्स सब्जेक्ट में 97.40 प्रतिशत अंक हासिल किया हैं। पवन ने बताया कि उनके पिता टेलर हैं, मां टीचर हैं। पवन कहते हैं कि उनके आगे बढ़ने के लिए उनके माता-पिता ने काफी सपोर्ट किया। उन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया जिसके चलते मुझे सक्सेस मिला। पवन ने बताया कि मैंने भी NCERT से तैयारी की थी, घर पर ही रोज मॉक टेस्ट देता था। इससे ये फायदा हुआ कि जब एग्जाम हुआ तो उतना डर नहीं लगा।

पवन ने बताया कि वह आगे चलकर बीटेक करना चाहते हैं। इसलिए उन्होंने अभी JEE की परीक्षा दी थी, अब सेकेंड अटेंप्ट की तैयारी कर रहे हैं। कोशिश है कि कोई बड़ा संस्थान मिले, जिससे आगे की पढ़ाई की जा सके।