सनसनीखेज : जरहाटोला के एक खेत मे जहरीले पानी पीने से बड़ी संख्या में दुर्लभ पक्षी, मिट्ठू, गौरैया, कौवा आदि की दर्दनाक मौत

703

राजनांदगांव जिले के अंबागढ़ चौकी विकासखंड के ग्राम पंचायत रंगकठेरा के आश्रित ग्राम जरहाटोला के एक खेत मे जहरीले पानी पीने से बड़ी संख्या में दुर्लभ पक्षी, मिट्ठू, गौरैया, कौवा आदि की दर्दनाक मौत हो जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. एक साथ सैकड़ों पक्षियों के दर्दनाक मौत की सूचना पर फारेस्ट डिपार्टमेंट के रेंज अफसर से लेकर डीएफओ कार्यालय राजनांदगांव की टीम मामले की संघन जांच के लिए मौके पर पहुंची.

रंगकठेरा ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम जरहाटोला में एक किसान के खेत में जहरीली पदार्थ का अत्यधिक छिड़काव कर दिया गया. जिससे प्यासी पक्षी मिट्ठू , कौवा, गौरैया आदि दुर्लभ पक्षियों ने खेत का जहरीला पानी पीने से खेत में ही बड़ी संख्या में पक्षियों की दर्दनाक मौत हो गई. इस मामले में गांव की तरफ से फॉरेस्ट अमले को खबर मिलने पर अंबागढ़ चौकी फॉरेस्ट रेंजर अफसर तथा आला अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची. पड़ताल में पता चला है कि किसान के खेत में बेहद ही जहरीली दवा का छिड़काव किया गया था. जो मानक दर से अधिक था.

जैसे ही प्यासे पक्षियों ने खेत का पानी पिया उनकी दर्दनाक मौत हो गई. इस संबन्ध में प्रशिक्षु आइएफएस चंद्रशेखर शंकर सिंह परदेशी ने बताया कि- किसान ने खेत में धान के साथ प्रतिबंधित दवाई मिलाकर छिड़काव कर दिया गया था. उन धान के बीजों का सेवन करने से पंछियों की मौत हो गई इसकी जानकारी मिलते ही हमने वहां पहुंचकर मुआयना किया. हमने पाया कि वहां 52 पक्षी मरे पड़े थे.