रायपुर : लोहा कारोबारियों को 50 करोड़ का चूना लगाकर फरार हुए व्यापारी पिता पुत्र को तीन महीने बाद रायपुर पुलिस ने देहरादून से पकड़ा…

1243

रायपुर, लोहा कारोबारियों को 50 करोड़ का चूना लगाकर फरार हुए व्यापारी पिता पुत्र को तीन महीने बाद आजाद नगर पुलिस ने देहरादून की अग्रवाल धर्मशाला से पकड़ लिया। डीडी नगर रायपुर निवासी सुरेश मित्तल (65) व उसके पुत्र स्वप्निल मित्तल (35) ने व्यापारिक साख का फायदा उठाकर शहर के लोहा कारोबारियों से करोड़ों रुपये मूल्य का सरिया खरीदा और गायब हो गए। सुरेश की रायपुर के समता कालोनी में एमएस शाप फर्म नाम की दुकान है जिसमें उसका पुत्र स्वप्निल भी बैठता है।

स्वप्निल ही मुख्य आरोपित है। पिता पुत्र यहां से माल खरीदकर नागपुर के एक अन्य आरोपी रामपाल स्टील फर्म के संचालक संतोष साहू को भेजा करते थे। करीब तीन महीने पहले एफआइआर दर्ज होते ही सभी फरार हो गए। संतोष साहू को रायपुर पुलिस ने डेढ़ महीने पहले गिरफ्तार किया था। वह वर्तमान में जमानत पर है। संतोष के विरूद्ध नागपुर में बलवा, रेलवे का लोहा चोरी करने के एक दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं। शुक्रवार को गिरफ्तार किए गए पिता पुत्र के विरूद्ध ठगी के कुल पांच प्रकरश दर्ज किए गए हैं। तीन अन्य आरोपितों की तलाश भी पुलिस कर रही है।

एडिशनल एसपी क्राइम अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि आरोपित पिता पुत्र ने शुरू में समय पर भुगतान किया। रायपुर के व्यापारी राजेश अग्रवाल से इस साल मई में एक करोड़ 41 लाख का सरिया खरीदा और तय समय से पहले भुगतान कर दिया। इसके बाद किश्तों में 520 मीट्रिक टन सरिया और उठाया। इसमें से 200 टन का भुगतान किया किंतु 320 टन का करीब तीन करोड़ 70 लाख रुपये लेकर फरार हो गए। इसी तरह अन्य व्यापारियों को झांसे में लिया। अब तक की जांच में कुल 50 करोड़ की ठगी का पता चला है। स्वप्निल ने बताया कि वह काफी पैसा आइपीएल सट्टेबाजी में हार चुका है।

परिवार के साथ कार में घूमते रहे, छोटे होटलों में रूकते थे

स्वप्निल अपने माता पिता व पत्नी के साथ कार पर भागा। कहीं भी एक दो दिन से ज्यादा न रूकता। दो-तीन सौ रुपये भाड़ा वाले छोटे होटलों में रूकता क्योंकि उसे पता था पुलिस बड़े होटलों में छापा मारेगी। तीन महीने तक वह राजनांदगांव, छिंदवाड़ा, झांसी, ग्वालियर, मथुरा, वृन्दावन, ऋषिकेश, कुरूक्षेत्र, महासर, राजस्थान सहित अन्य शहरों में 20 अलग-अलग ठिकानों में छिपा रहा। इस दौरान उसने सात बार अपना मो