रायपुर कलेक्टोरेट के बाजू में मल्टी-लेवल पार्किंग के कैंपस में काटा बकरा ; VIDEO वायरल हुआ तो पहुंची पुलिस, दो गिरफ्तार…

842

रायपुर में बकरीद के दिन कुछ लोगों ने कलेक्ट्रेट परिसर के पास बनी मल्टी-लेवल पार्किंग में ही बकरा काट दिया। बकरा पार्किंग के पिछले हिस्से में काटा गया। खबर है कि यहां दो बकरे काटे गए। इसका वीडियो सोशल मीडिया के जरिए पुलिस और प्रशासनिक अफसरों तक पहुंच गया। जो वीडियो सामने आया है उसमें एक बकरे को पार्किंग परिसर में बांधा गया है, जैसे उसे वहीं पाला गया हो। मामले में अब दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस को शिकायत मिली तो एक टीम ऑक्सीजन गार्डन के पास मल्टी लेवल पार्किंग पहुंची यहां पार्किंग का ठेकेदार मोहम्मद शोएब उर्फ शिबू और उसके कुछ साथी मिले। यही यहां गोश्त काट रहे थे। दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मल्टीलेवल पार्किंग परिसर में बकरा काटने की जानकारी मिलने पर नगर निगम के द्वारा जांच की जा रही है एवं पार्किंग ठेकेदार को परिसर के गलत इस्तेमाल के संबंध में नोटिस दिया जा रहा है।

जारी हुई थी गाइडलाइन…

इंडियन मुस्लिम फॉर प्रोग्रेस एंड रिफॉर्म्स संगठन और अन्य धर्म गुरुओं की ओर से गाइडलाइंस जारी की गई थी। गाइडलाइन में कहा गया था जानवर को खुले में न बांधें। दूसरों की धार्मिक भावनाओं का सम्मान करते हुए अपशिष्ट पदार्थ फुटपाथ, सड़कों या सीवरों में नहीं पड़ना चाहिए। बलि की अनुमति केवल निर्धारित स्थानों पर ही दी गई है। इसके साथ ही परिवहन या बाजार में जानवरों के साथ कोई क्रूरता नहीं होनी चाहिए। कुर्बानी बूचड़खाने में करें, न कि अपने घर के अंदर या अपने दरवाजे के बाहर, और यह भी सुनिश्चित करें कि खून या मैला सड़क पर न जाए।

फ़र्ज-ए-कुर्बान का दिन है ‘बकरीद’
ईद-उल-अजहा या बकरीद का दिन फ़र्ज-ए-कुर्बान का दिन होता है। आमतौर पर हम सभी जानते हैं कि बकरीद के दिन बकरे की कुर्बानी दी जाती है। मुस्लिम समाज में बकरे को पाला जाता है और उसे बकरीद के दिन कुर्बान कर दिया जाता हैं जिसे फ़र्ज-ए-कुर्बान कहा जाता है। यह त्याग की भावना को प्रदर्शित करने का पर्व है।

24x7cg