राजधानी रायपुर पुलिस के रवैये से दुखी व्‍यापारी ने की खुदखुशी; शहर के 2 थानों में शिकायत पर भी जांच नहीं…

641

रायपुर, अमलीडीह में कारोबारी जीतू की खुदकुशी मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। उधार पैसा नहीं मिलने से जीतू परेशान था। उसका कारोबार भी ठप हो गया था। कारोबारी ने पैसा लेने वाले गाड़ी मैकेनिक खिलाफ पंडरी थाना में शिकायत की थी। पंडरी पुलिस ने दोनों पक्षों में बीच का रास्ता निकालकर समझौता की कोशिश की। लेकिन कुछ नहीं हुआ। कारोबारी ने राजेंद्र नगर थाने में शिकायत की। वहां भी कुछ नहीं हुआ तो सीएसपी के पास शिकायत हुई। उन्होंने थाने को जांच का निर्देश दिया। उसके बाद थाने के अफसरों ने जांच भी शुरू हुई।

अलबत्ता कुछ प्रभावशाली लोगों ने जांच को रुकवाने का प्रयास किया। इस वजह से जांच आगे नहीं बढ़ी। कारोबारी पिछले कई महीनों से थानों के चक्कर काटता रहा। उसके बाद परेशान होकर बुधवार को खुदकुशी कर ली। अब पुलिस ने आधा दर्जन लोगों को नोटिस जारी किया है। शनिवार को गाड़ी मैकेनिक का बयान दर्ज किया गया है। इसमें एक युवती का बयान हुआ है। पुलिस अब कारोबारी के मोबाइल का कॉल डिटेल और वाट्सएप चैट खंगाल रही है।

पुलिस ने बताया कि अमलीडीह निवासी जीतेंद्र मनवानी उर्फ जीतू की मोबाइल एसेसरीज की दुकान थी। उसने मोवा के गाड़ी मैकेनिक को मोटी रकम उधार दी थी। उसके साथ गाड़ी खरीदी-बिक्री भी की। मैकेनिक और कुछ अन्य लोग उसका पैसा नहीं लौटा रहे थे। उसने पुलिस में इसकी शिकायत की। कुछ प्रभावशाली लोग मैकेनिक के पक्ष में आ गए और कम पैसों में समझौता करने के लिए दबाव बनाने लगे।

कारोबारी थाना के चक्कर काटकर परेशान हो गया था। उसे पैसा वापस नहीं मिल रहा था। वह तनाव में चल रहा था। उसने खुदकुशी कर ली। राजेंद्र नगर पुलिस के अनुसार सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। लोगों का बयान दर्ज किया जा रहा है, जो भी दोषी पाया जाएगा। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।