मौत का डर दिखा किया पूजा, भभूत की जगह पूरे परिवार को दे दी नींद की गोली, उड़ा ले गए 76 लाख, फर्जी साध्वी पकड़ा गया

446

रायपुर राजधानी में आधी रात को घर के जेवर व कैश लेकर अपनी कार से फरार हो गए।

रायपुर। राजधानी रायपुर में एक परिवार को झांसा देकर 76 लाख लूटने का मामला सामने आया है। घर पर बुरे साए का झांसा देकर पुरानी बस्ती के साहू परिवार (sahu family) से 76 लाख की ठगी करने वाली फर्जी साध्वी और उसके साथी ठग को पुलिस ने महाराष्ट्र-गुजरात में छापे मारकर पकड़ा है। घर पर बुरे साए का झांसा देकर पुरानी बस्ती के साहू परिवार (sahu family) से 76 लाख की ठगी करने वाली फर्जी साध्वी और उसके साथी ठग को पुलिस ने महाराष्ट्र-गुजरात में छापे मारकर पकड़ा है।

आरोपियों जून के महीने में पूजा पाठ करने के बाद साहू परिवार (sahu family) को भभूत के नाम पर नींद की गोली का पावडर दिया। उसे खाने के बाद पूरा परिवार सो गया। आरोपी आधी रात को घर के जेवर व कैश लेकर अपनी कार से फरार हो गए। एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि मूलत: महाराष्ट्र जलगांव निवासी सुषमा प्रभाकर पूरे कांड की मास्टर माइंड है।

आरोपियों जून के महीने में पूजा पाठ करने के बाद साहू परिवार (sahu family) को भभूत के नाम पर नींद की गोली का पावडर दिया। उसे खाने के बाद पूरा परिवार सो गया। आरोपी आधी रात को घर के जेवर व कैश लेकर अपनी कार से फरार हो गए। एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि मूलत: महाराष्ट्र जलगांव निवासी सुषमा प्रभाकर पूरे कांड की मास्टर माइंड है।

वह खुद को साध्वी बताती है। गुजरात निवासी अशोक नाथूलाल उसका साथी है। दोनों देशभर में घूमकर ऐसे लोगों की तलाश करते हैं जो उनके झांसे में आ जाएं। फरवरी में वे उज्जैन गए थे। वहां रेखा साहू परिवार के साथ पहुंची थी। सुषमा को साध्वी समझकर अपना हाथ दिखाया। सुषमा ने कहा कि घर में किसी की अचानक मौत हो सकती है। रेखा और पूरा परिवार डर गए। घर आने के बाद मार्च महीने में उन्होंने सुषमा को पूजा-पाठ के लिए रायपुर बुलाया।

मौत का दिखाते थे भय

सुषमा अशोक ने आधा दर्जन राज्यों में ठगी की है। हर जगह वे पति-पत्नी बनकर जाते थे। वहां लोगोंं को मृत्यु का डर दिखाते थे। यहां जिस तरह वारदात की उसी तरह पूजा पाठ का झांसा देकर घर के जेवर व कैश मंगवाकर लाल कपड़े में बंधवाकर उसे आलमारी में रखवाते थे। फिर उन्हें नींद की गोली खिलाकर जेवर और कैश की पोटली लेकर भाग जाते।

3 बार आए राजधानी

सुषमा और अशोक दोनों बार अलग-अलग महीनों में रायपुर आए। पहली बार मार्च में एक माह रेखा के घर पर रहकर पूजा पाठ की। फिर अप्रेल में आकर पूजा पाठ का झांसा दिया। जून में तीसरी बार दोनों आए। इस बार फिर उनके घर में पूजा पाठ के नाम पर झांसा दिया। इस बार परिवार को भभूत-प्रसाद के नाम पर नींद की गोली खिलाकर वारदात की। दवाई दी उसके खाने के बाद साहू परिवार गहरी नींद में सो गया। इसी का फायदा उठाकर आरोपी जेवर और कैश लेकर फरार हो गए। आरोपियों ने राजस्थानमध्यप्रदेशहिमाचंलपंजाबउत्तराखंड समेत अन्य राज्यों में ठगी की हैं।