मंत्री के करीबी सरपंच पति की संदिग्ध मौत;नदी में मिली लाश, शरीर पर चोट और घसीटने के निशान

495

दुर्ग, जिले में मंत्री रवींद्र चौबे के करीबी सरपंच पति की संदिग्ध परिस्थितियों में नदी में लाश मिली है। गोताखोरों ने पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद शव को नदी से बाहर निकाला है। जांच करने पर मृतक के शरीर पर चोट व घसीटने के निशान मिले हैं। ऐसे में आशंका है कि उसकी हत्या की गई है।

लिटिया-सेमेरिया चौकी प्रभारी सोमेश सिंह ने बताया कि ग्राम डोड़की व शिवकोकड़ी की सरपंच बीनाबाई निषाद के पति कौशल निषाद (55वर्ष) की लाश मिली है। कौशल बुधवार सुबह 9 बजे बीनाबाई को नहाने जाने की बात बोलकर घर से निकला था। जब वह दोपहर 12 बजे तक घर नहीं लौटा तो परिवार वालों को उसकी चिंता हुई। घर वालों ने उसकी खोजबीन शुरू की। जब वो लोग नदी के किनारे गए तो देखा कि उसका कपड़ा और चप्पल नदी किनारे पड़ा हुआ है। घरवालों ने नदी के आसपास काफी खोजा, लेकिन वह कहीं नहीं मिला।

कौशल के न मिलने से घरवाले काफी परेशान हो गए। उन्होंने गांव वालों और पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलते ही लिटिया पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। पुलिस ने एसडीआरएफ को सूचना देकर गोताखोरों को बुलाया। उन लोगों ने नदी में लगभग 5 घंटे तक तलाश की। जिसके बाद कौशल निषाद की लाश नदी में मिली।

किसी चीज से मारने के भी निशान

नदी से शव बाहर निकालने के बाद जब उसका पंचनामा किया गया तो पुलिस को मृतक के शरीर में चोट के निशान मिले। कौशल के नाक से खून निकल रहा था। सीने में किसी डंडे या राडनुमा चीज से मारने के निशान थे। उसके शरीर में घसीटने के भी निशान मिले हैं। यह सब देख गांववालों और पुलिस ने हत्या की आशंका जताई है। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है। एएसपी ग्रामीण अनंत कुमार का कहना है कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद यह पता चल जाएगा कि मौत कैसे हुई है।

मंत्री चौबे के साथ लगाए थे पूरे गांव में पोस्टर

बीनाबाई निषाद जिस शिवकोकड़ी गांव की सरपंच है वह गांव शिव तीर्थ के नाम से प्रसिद्ध है। सावन सोमवार के मौके पर यहां मंत्री रवींद्र चौबे का दौरा था। कौशल निषाद ने पूरे क्षेत्र में मंत्री चौबे के साथ अपना पोस्टर लगवाया था। फ्लैक्सी लगवाने व मंत्री दौरे के दो दिन बाद ही उसकी मौत हो गई। परिवार वालों ने जहां उसकी हत्या की आशंका जताई है। वहीं ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष शिवकुमार वर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जीवन वर्मा और जिला कांग्रेस महामंत्री राजीव सहित अन्य कांग्रेसी नेताओं ने इस मामले के दोषियों को कड़ी सजा दिए जाने की मांग की है।