Home Crime news बॉयफ्रेंड संग नया रायपुर घूमने गई गर्लफ्रेंड की- वापस आई लाश; ...

बॉयफ्रेंड संग नया रायपुर घूमने गई गर्लफ्रेंड की- वापस आई लाश; बजरंगदल ने प्रेमी पर लगाया हत्या का आरोप…

1428

रायपुर, राजधानी रायपुर में एक युवती की मौत के बाद जमकर बवाल हुआ है। दरअसल लड़की अपने बॉयफ्रेंड के साथ नवा रायपुर घूमने गई थी, मगर घर उसकी लाश लौटी है । इस मामले को लेकर युवती के परिजन और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने बवाल कर दिया और लड़की के प्रेमी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करने की मांग की जा रही है।

युवती के बॉयफ्रेंड ने घायल हालत में उसे तेलीबांधा के एक अस्पताल में भर्ती करवाया था, जहां उसकी मौत हो गई। शनिवार शाम इस अस्पताल के बाहर बजरंग दल के कार्यकर्ता जमा हो गए। ये सभी हंगामा करने लगे। युवती के बॉयफ्रेंड और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं के बीच झूमा-झटकी की खबर है। आज रविवार को इस मामले में पुलिस FIR दर्ज कर सकती है। रायपुर के सिलतरा इलाके में रहने वाली 24 साल की मोनिका यादव रहती थी। वह भनपुरी में रहने वाले 28 साल के वाहिद अली के प्यार में पड़ गई। कुछ समय से दोनों के बीच रिश्ता रहा।

बजरंग दल के प्रांत संयोजक ऋषि मिश्रा और रवि वाधवानी ने बताया कि युवक लड़की से मारपीट भी किया करता था।लड़की के घर वालों पर युवक जबरन शादी करने का दबाव भी बना रहा था। मगर समाज में बदनामी के डर से वो चुप रहे। घरवाले इस रिश्ते के खिलाफ थे।मोनिका यादव रायपुर में बैंक ऑफ बड़ौदा की ब्रांच में काम भी करती थी। कुछ वक्त पहले लड़की का युवक के साथ झगड़ा भी हुआ था। वाहिद-मोनिका से मिलने उसके ऑफिस पहुंच गया । वहां उसने बैंक में जाकर युवती से बात करनी चाही। दोनों के बीच बहस भी हुई। काफी देर तक वाहिद बैंक में ही रहा जब वो मानने को राजी नहीं हुआ तो युवती उसके साथ जाने को तैयार हो गई। यहां से दोनों नवा रायपुर के लिए निकल गए थे।

हत्या या हादसा
बजरंग दल नेताओं ने बताया कि वाहिद ने पुलिस को जानकारी देते हुए कहा है कि नवा रायपुर में बाइक पर राइड करने के दौरान मोनिका पिछली सीट पर बैठी थी। वह अचानक गिर गई जिससे उसके सिर पर गंभीर चोट आई। वाहिद मोनिका को बालको अस्पताल लेकर गया। लेकिन यहां से उसे तेलीबांधा के प्राइवेट अस्पताल में रेफर किया गया और यहीं मोनिका की माैत हो गई। बजरंगदल के पदाधिकारियों का दावा है कि वाहिद ने जानबूझकर इस हादसे का सीन क्रिएट करके हत्या की वारदात को अंजाम दिया है। वह जानबूझकर मोनिका को बालको अस्पताल लेकर गया और वहां काफी देर तक मामला उलझाए कर रखा।