बेटी को पिटते देख बाप ने आपा खोया, निगरानी बदमाश दामाद को पीट-पीट कर मार डाला;

705

रायपुर, गरियाबंद जिले में आपसी विवाद में युवक की डंडे, ईंट और रॉड से मार-मारकर हत्या कर दी गई। तीनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मृतक रविशंकर ध्रुव (42 वर्ष) एक निगरानी बदमाश था। घटना मैनपुर थाना क्षेत्र की है। बताया गया है कि बेटी को पिटते देख भाई और बाप ने आपा खोया और गुस्से में निगरानी बदमाश दामाद को पीट-पीट कर मार डाला। बेटी को मौत से बचाया तो दामाद की जन चली गई।

गांव के द्रोणाचार्य नाम के शख्स ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि 1 नवंबर की शाम करीब 7-8 बजे मैनपुर थाना क्षेत्र के कोसमी में रविशंकर उर्फ बिल्ला के घर उसका ससुर सरजू, साला चित्रकुमार चक्रधारी और पड़ोसी टेकराम गाड़ा पहुंचे। ससुर ने दामाद रवि को इस बात पर लताड़ा कि वो उसकी बेटी के साथ क्यों मारपीट करता है। इसी बात पर विवाद बहुत बढ़ गया और ससुर सरजू, साले और पड़ोसी ने मिलकर डंडे, रॉड और ईंट से चेहरे पर वार कर रविशंकर उर्फ बिल्ला को मौत के घाट उतार दिया। वारादात के पहले भी रवि अपनी पत्नी के साथ झगड़ा कर रहा था। इसी वजह से उसके ससुरालवाले उसे समझाने पहुंचे थे।

वारदात के बाद तीनों पहले तो फरार हो गए थे। इधर सूचना मिलने पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ IPC की धारा 302, 34 के तहत केस दर्ज किया। गरियाबंद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित तुकाराम कांबले के निर्देश में टीम का गठन किया गया। इसके बाद तीनों आरोपियों सरजू चक्रधारी (52 वर्ष), चित्रकुमार चक्रधारी (25 वर्ष) और टेकराम गाड़ा (29 वर्ष) को गिरफ्तार कर लिया।

एसडीओपी अनुज गुप्ता ने बताया कि तीनों आरोपियों को बुधवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतक रविशंकर ध्रुव पुलिस के रिकॉर्ड में निगरानीशुदा बदमाश था। हत्या, लूट, उगाही जैसे कई आरोपों में वो जेल जा चुका था।

3.5 साल पहले भागकर की शादी

बताया जा रहा है कि रविशंकर ने 3.5 साल पहले पड़ोसी में रहने वाली लड़की से शादी की थी। दोनों के बीच प्रेम संबंध था। जिसके कारण रविशंकर ने भागकर युवती से शादी कर ली। उस शादी से दोनों की 2.5 साल की बेटी है। रविशंकर आए दिन अपनी पत्नी से झगड़ा करता था। जिसके चलते वारदात हुई है।