बलौदाबाजार के जवान ने सो रहे साथी जवानों पर बरसाई अंधाधुन गोलियां, दो की मौत…

587

सिटी न्यूज रायपुर  :  आरोपी जवान लोकेश कुमार ध्रुव छत्तीसगढ़ के जिला बलौदा बजार, गांव गदीदान का रहने वाला है ,  पंजाब में पठानकोट जिले के मीरथल कैंटोनमेंट स्थित 15 गार्ड बटालियन में सेना के एक जवान ने दो साथियों की गोली मारकर हत्या कर दी। जिले के नंगलभूर थाने की पुलिस के मुताबिक मरने वालों में बंगाल के हुबली जिले के नीर बोएपुर निवासी हवलदार गौरी शंकर हट्टी और महाराष्ट्र के लातूर जिले के बड़ेगांव निवासी तेलांगी सूर्यकांत शशिराव शामिल हैं।

सेना की ओर से दी गई शिकायत के आधार पर हत्या और आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज कर नंगलभूर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस को दिए बयान में नायक पन्नी राजू ने बताया कि हवलदार गौरी शंकर, तेलांगी सूर्यकांत और आरोपी लोकेश कुमार एक ही बैरक में रहते थे। एक समय में तीन-तीन जवान ड्यूटी पर रहते हैं। रविवार रात करीब एक बजे वह भी ड्यूटी पर तैनात थे।

आरोपी लोकेश बैरक के बाहर निगरानी पर था। रात करीब दो बजे तेलांगी व गौरी शंकर सहित तीनों बैरक में पहुंचे और सो गए। नायक पन्नी राजू ने बताया कि रात करीब ढाई बजे गोलियों की आवाज आई। उसने देखा कि लोकेश के हाथ में राइफल थी। वहीं, पास में हवलदार तेलांगी और गौरी शंकर खून से लथपथ तड़प रहे थे। इसी दौरान बाकी जवान भी उठे तो आरोपी राइफल छोड़कर फरार हो गया। उन्होंने घायलों को सैन्य अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई। सेना की ओर से अभी इस मामले में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

हवलदार गौरीशंकर की राइफल से दिया वारदात को अंजाम

एक सैन्य अधिकारी ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि जिस इनसास राइफल से आरोपित ने वारदात को अंजाम दिया, वह हवलदार गौरी शंकर के नाम पर जारी की गई थी। जब वह रात को पैट्रोलिग से लौटे तो हवलदार गौरी शंकर ने सभी हथियारों को बैरक की अलमारी में रखा और ताला लगाकर चाबी तकिये के नीचे रख ली थी। इसके बाद वह सो गए थे। आरोपी लोकेश ने हवलदार गौरीशंकर के तकिये के नीचे से चाबी लेकर अलमारी खोलकर राइफल निकाल ली और फायरिग कर दी।