गांजा चेकिंग के बहाने नकली पुलिस ने 9 लाख लूटे; रायपुर के कारोबारी के सेल्समैन और ड्राइवर को बंधक बनाकर घटना को दिया अंजाम

563

महासमुंद, छत्तीसगढ़ के महासमुंद में बुधवार को बदमाशों ने एक सेल्समैन और ड्राइवर को बंधक बनाकर 9 लाख रुपए लूट लिए। रायपुर के एक कारोबारी का सेल्समैन वसूली और माल की डिलवरी के बाद कार से लौट रहा था। तभी बोलेरो सवार बदमाशों ने पीछा कर रास्ते में रोक लिया। खुद को पुलिसकर्मी बता गांजा चेकिंग के नाम पर जंगल में ले गए और पेड़ से बांध दिया। फिर रुपयों से भरा बैग लेकर भाग निकले। हालांकि पुलिस को कहानी पर भरोसा नहीं है। ऐसे में पुलिस ने देर रात करीब 9 बजे FIR दर्ज की है। मामला खल्लारी थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, रायपुर के घड़ी कारोबारी का सेल्समैन लक्ष्मीनाराण देवांगन महासमुंद माल की डिलवरी और वसूली के लिए गया था। करीब एक सप्ताह से वसूली करने के बाद वह ड्राइवर के साथ बुधवार को खरियार रोड से रायपुर लौट रहा था। सेल्समैन लक्ष्मीनारायण ने पुलिस को बताया कि कार में वसूली के 9 लाख रुपए भी बैग में रखे थे। अभी वे खल्लारी और एमके बाहरा बीच NH-353 पर पहुंचे थे कि तभी कोसरंगी के पास पीछे से आए बोलेरो सवारों ने कार के आगे गाड़ी लगा दी और उन्हें रुकने का इशारा किया।

जंगल में ले जाकर दोनों को पेड़ से बांध दिया

इस पर ड्राइवर ने कार रोक दी। बोलेरो से बदमाश बाहर निकले और खुद को पुलिसकर्मी बताया। साथ ही गाड़ी में गांजा होने की बात कहते हुए चेकिंग करने को कहा। इसके बाद सेल्समैन को अपनी गाड़ी में बिठा लिया, जबकि उनका साथी कार लेकर साथ में जंगल की ओर आए। सेल्समैन ने बताया कि वहां उसे और ड्राइवर को बदमाशों ने पेड़ से बांध दिया। इसके बाद रुपयों से भरा बैग लेकर भाग गए। सेल्समैन ने बताया कि बोलेरो में पांच लोग सवार थे। इसमें से चालक को छोड़कर बाकी चार ने मुंह पर रुमाल बांधा था।